वजन कैसे बढ़ाएं आसान तरीके और उपाय |

कई लोग अपनी शारीरक समस्यां को लेकर परेशान रहते है। किसी को अपने बढ़ते वजन की समस्यां तो कईओं को underweight की समस्यां सताती है। 

वैसे कहा तो ये जाता है की weight gain करना  weight loss करने के मुकाबले ज्यादा आसान होता है।  लेकिन यह सभी के लिए उतना आसान नहीं होता। अक्सर देखा जाता है की कम वजन वाले व्यक्ति अपने वजन के मुकाबले overweight व्यक्ति से अधिक भोजन करते है। फिर भी उनका वजन नहीं बढ़ता। 

यह उस व्यक्ति के शारीरक स्वास्थ पर निर्भर करता है। ख़ास कर पाचन संबंधी समस्यां वाले व्यक्ति में underweight की अधिक समस्यां देखि जाती है। 

तो इस लेख में में आपको वजन कैसे बढ़ाएं के बारें में कुछ उपयोगी tips दूंगा। जिसे follow करके आप भी अपनी underweight की समस्यां दूर करके आसानी से अपना weight gain कर सकतें है। तो चलिए शुरू करतें है आज का महत्त्व पूर्ण विषय वजन कैसे बढ़ाएं आसान तरीके और उपाय |

और पढ़ें>> बच्चों की त्वचा और बालों की देखभाल कैसे करें

वजन कैसे बढ़ाएं क्या खाएं :

कुछ  लोगो के लिए  मांस, चिकन, दूध, दही, दही और सूखे मेवे आदि बहुत महंगे हैं इसलिए अधिक महंगे होने के कारण वे अधिक समय तक इनका सेवन नहीं कर सकतें। 

यह देखते हुवे में आपको कम बजट वाला वजन बढ़ाने वाला आहार बताऊंगा। जिससे आप स्वस्थ तरीके से अपना वजन बढ़ा सकते हैं।

तो आप कम बजट में भी अपना वजन और मांसपेशियों को बढ़ा सकते है। इसके लिए आप आलू, दाल, चावल और चपाती जैसे साधारण स्वस्थ भोजन का भी सेवन करके अपना वजन और मांसपेशियों को बढ़ा सकते हैं।

 

 

इस उपाय में आपको केवल एक ही बात ध्यान देना है कि अगर आप अपना वजन बढ़ाना चाहते हैं तो आप अभी कितना खाना खा रहे हैं उस मात्रा को शारीरक वजन के हिसाब से बढ़ाना होगा।

अगर अधिक मात्रा में भोजन करने के बावजूद भी आपका वजन नहीं बढ़ रहा है। 

तो आपको कुछ परीक्षण करने की आवश्यकता है। 

1) Blood test, आपके खून में हीमोग्लोबिन की उपस्थिति का पता लगाने के लिए।

2) Urine test, गुर्दा विकारों और मधुमेह की उपस्थिति का पता लगाने के लिए। 

3) Stool test, आंतों के कीड़े, विकार या अपच की उपस्थिति का पता लगाने के लिए और अपच, मूल रूप से भोजन को ठीक से पचाने में दिक्कत की समस्यां को जानने के लिए। 

4) chest X-ray, आपके फेफड़ों में tuberculosis की उपस्थिति का पता लगाने के लिए।

इसे भी पढ़ें >> कैसे स्वस्थ तरीके से अपना वजन कम करे?

पतले आदमी को क्या खाना चाहिए?

अब मैं आपको बताता हूँ, की आप साधारण, घर के बने भोजन का उपयोग करके अपना वजन और मांसपेशियों को कैसे बढ़ा सकते हैं। 

इसके लिए, सुबह सबसे पहले,

नाश्ता क्या खाएं :

आपको 2 गिलास सामान्य पानी पीना चाहिए, इसके आधे घंटे बाद आप चाय और नाश्ता कर सकते हैं। नाश्ते में आपको एक बड़ा कटोरा गेहूं का दलिया का सेवन करना है। 

इसके लिए , आप दलिया को रात भर पानी में भिगो दें, और सुबह में इसे थोड़ा सा गुड़ मिलाकर पकाकर खाएं। 

इसके अलावा यदि आप दलिया का सेवन नहीं करना चाहते तो आप ३ से  ४ साधारण चपातियाँ  गुड़ मिलाकर एक गिलास दूध मिलाकर खाएं। 

क्यों की, गेहूं प्रोटीन से भरा होता है, और इसका सेवन आपके पेट में कब्ज की समस्या होने से भी रोकता है।

फल कोन से खाएं :

जहां तक ​​फलों की बात है, तो फलों में केला सबसे सस्ते फलों में से एक है। यह विटामिन सी, ऊर्जा और विभिन्न आवश्यक पोषक तत्वों और खनिजों से भरा हुआ है।

केला आपका खाया हुवा भोजन के पाचन में भी मदद करता हैऔर पेट को बीमारियों और एसिडिटी से भी मुक्त रखता है। इसलिए आपको नाश्ते में 2 केले खाने चाहिए।

गर्मी के दिनों में आप केले की जगह आम भी खा सकते हैं। इसके अलावा जो लोग अंडे खा सकते हैं उन्हें सुबह दो अंडे जरूर खाने चाहिए।

इसके बाद नाश्ता करें और नाश्ते के एक घंटे बाद आपको 2 गिलास सादा पानी पीना चाहिए। पानी आपके शरीर को dehydrated होने से रोकता है और यह खाना भी ठीक से पाचन करता है पाचन करता है।

इसके 3 घंटे बाद आपको 100 ग्राम मूंगफली या 3-4 खजूर खाना चाहिए। ये दो सबसे सस्ते और सबसे स्वस्थ सूखे मेवे हैं। साथ ही ये ऊर्जा, प्रोटीन और कैलोरी से भरपूर होते हैं।

लंच में क्या खाएं?

मैं आपको एक बहुत ही महत्वपूर्ण बात बताना चाहता हूँ, कि अगर आप पकी हुई दाल, सादे सफेद चावल और आलू की सब्जी एक साथ खाते हैं तो यह ख़ास तौर पे पूरी तरह से संतुलित और पौष्टिक आहार है। 

इन 3 भोजन में आवश्यक ऊर्जा, कैलोरी, साथ ही सभी अमीनो एसिड होते हैं। जिसे हमारे शरीर को सभी आवश्यक प्रोटीनों को प्रभावी ढंग से सोखने की जरुरत  होती है। 

अगर आप आलू के साथ हरी सब्जी जैसे पालक, मेथी का  करते है। तो आप अपने भोजन में भरपूर मात्रा में फाइबर के साथ-साथ विटामिन भी प्राप्त कर सकते हैं।

इसके अलावा अगर आप भोजन के साथ धनिया, पुदीना, इमली, आंवला की चटनी खाते है और गर्मियों में कच्चे आम की चटनी, सर्दियों में टमाटर की चटनी तो आपके शरीर को पर्याप्त मात्रा में विटामिन सी, विटामिन बी आयरन और कैल्शियम भी मिलता है। 

जो लोग छाछ या छाछ पी सकते हैं।  उन्हें दोपहर के भोजन के बाद लगभग 30 मिनट तक प्रतीक्षा करनी चाहिए और फिर पानी की जगह एक गिलास छाछ पीनी चाहिए। यह आपके आहार सबसे संपूर्ण, स्वस्थ और कम बजट वाला शाकाहारी आहार है।

दोपहर के भोजन के एक घंटे बाद, आप 2 गिलास पानी पिएं। यह भोजन के सही तरह से पाचन में मदद करता है और एसिडिटी को भी रोकता है।

यदि आप भोजन के तुरंत बाद, दिन में या रात में पानी पीते है । तो आपका पाचन ठीक से नहीं हो पाता, और इसके परिणाम स्वरूप आपको अक्सर एसिडिटी की समस्यां खड़ी होती है।

चाय :

अब,शाम को चाय के साथ 100 ग्राम मूंगफली का सेवन करना चाहिए। या आप मूंगफली की जगह शकरकंद का सेवन भी कर सकते हैं। 

इसके लिए आप कम से कम 1 मध्यम आकार के शकरकंद का सेवन करें, जिसे या तो पानी में उबालकर या भूनकर नभी खाया जाता है। शकरकंद मूल रूप से एक सुपरफूड है। 

100 ग्राम शकरकंद में विटामिन ए, विटामिन सी, विटामिन बी 6, कैल्शियम, मैंगनीज, 86 कैलोरी, फाइबर, ऊर्जा और यह अन्य पोषक तत्वों और खनिजों का भी मुख्य स्त्रोत है। 

व्यायाम करें :

इसके साथ, दिन में कम से कम एक बार सुबह या शाम के समय शारीरिक व्यायाम या योग करना, स्वस्थ वजन हासिल करने के लिए जरुरी है।

व्यायाम और योग हड्डियों और मांसपेशियों के अच्छे विकास को बढ़ावा देता है। इससे शरीर में जमा चर्बी ऊर्जा में बदल जाती है और इस प्रकार यह चर्बी पेट, हृदय, यकृत और गुर्दे में जमा नहीं हो पाती है।

वर्ना आप जितना भी भोजन करते है और कोई भी शारीरिक व्यायाम बिल्कुल नहीं करते तो  यह सारा भोजन वसा में परिवर्तित हो जाता है और शरीर में जमा होना शुरू हो जाता है। इससे ही आपका वजन बढ़ने लगता है, लेकिन यह स्वस्थ वजन नहीं होता।

डिनर में क्या खाएं?

रात में आप काला चना, राजमा आदि खा सकते हैं। सफेद चना या पूरी दाल चपाती के साथ पकाकर खानी चाहिए। अगर आप ज्वार या बाजरा की रोटी खाते है तो यह बाकी आटे की चपाती से अधिक अच्छी होती है। 

क्योंकि ज्वार और बाजरा में प्रोटीन के साथ-साथ कैल्शियम भी अच्छी मात्रा में होता है। इससे हड्डियां मजबूत होती हैं। 

इसके साथ ही आपको कच्चे प्याज, गाजर, मूली, टमाटर, खीरा का सलाद खाना चाहिए या कोई और मौसमी सलाद खाना चाहिए।

सभी विभिन्न प्रकार की सब्जियों में विभिन्न प्रकार के विटामिन और खनिज होते हैं। आपको अपने आहार में अंकुरित मूंग से भरी कटोरी भी शामिल करनी चाहिए। यह आपके भोजन को बेहद पौष्टिक बनाता है।

स्प्राउट्स को आप अपने भोजन के साथ या फिर नाश्ते के रूप में खा सकते हैं। स्प्राउट्स में बहुत सारे विटामिन और आसानी से पचने योग्य प्रोटीन होते हैं।

यदि आप काला चना खाते हैं, और नियमित रूप से अंकुरित होते हैं, तो आपके शरीर को कभी भी विटामिन और आयरन की कमी का सामना नहीं करना पड़ेगा।

भोजन के बाद आप गुड़ का सेवन जरूर करें। क्यों की गुड़ का सेवन करने से आपका मुंह और पेट दोनों साफ रहता है और यह एक आयुर्वेदिक दवा भी है

इसके अलावा अश्वगंधा का सेवन शुरू कर दें। अश्वगंधा अक्सर वजन बढ़ाने के साथ-साथ अच्छे स्वास्थ्य के लिए भी लिया जाता है। तो अगर आप वजन बढ़ाने के लिए कोई प्राकृतिक हर्बल दवा लेना चाहते हैं तो अश्वगंधा को जरूर शामिल करें। 

इसे भी पढ़ें >> क्या हम केवल डाइट के सहारे वजन कम कर सकते है? 

निष्कर्ष :

 तो इस लेख में बताई गयी जानकारी का सही तरीके से  आप भी अपने  वजन को स्वस्थ तरीके से बढ़ा सकतें है और अपने कम वजन की समस्यां  छुटकारा  पा सकते है। 

आशा करता हूँ, वजन कैसे बढ़ाएं आसान तरीके और उपाय और इससे जुडी सभी भोजन और तरीकों के बारे में दी गयी जानकारी आपको पसंद आयी होगी। 

यदि इस लेख से संबंधी आपके कोई सवाल या सुझाव है तो कमैंट्स  हमें जरूर बताएं। यदि आपको इस जानकारी का प्रयोग करके फायदा होता है तो इसे अपने दोस्तों  जरूर share करें। 

अपने स्वास्थ संबधी ऐसी ही उपयोगी जानकारी  हमारी वेबसाइट Hindilant से जुड़े रहें। 

Desclaimer 

यह ब्लॉग स्वास्थ्य और संबंधित विषयों के बारे में सामान्य जानकारी और चर्चा प्रदान करता है। इसे चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार के विकल्प के रूप में नहीं माना जाना चाहिए या इसका उपयोग नहीं किया जाना चाहिए। यह ब्लॉग किसी भी चिकित्सा, नर्सिंग या अन्य पेशेवर स्वास्थ्य देखभाल सलाह, निदान या उपचार का अभ्यास नहीं करता है। हम इस ब्लॉग या वेबसाइट के माध्यम से स्थितियों का निदान नहीं कर सकते हैं, या उपचार की विशिष्ट सिफारिशें नहीं कर सकते हैं।

यदि आपको या किसी अन्य व्यक्ति को कोई चिकित्सीय चिंता है, तो आपको अपने रजिस्टर्ड मेडिकल डॉक्टर से परामर्श करना चाहिए। या तुरंत अन्य पेशेवर चिकित्सा उपचार की तलाश करनी चाहिए। इस ब्लॉग, वेबसाइट या किसी भी लिंक की गई आर्टिकल में आपने जो कुछ पढ़ा है, उसके कारण कभी भी पेशेवर डॉक्टर की चिकित्सा और सलाह लेने में देरी न करें।

Leave a Reply

%d bloggers like this: