Ghamori On Face Treatment in Hindi | घामोरि के कारण और घरलू उपाय

Ghamori On Face Treatment in Hindi

Ghamori On Face Treatment in Hindi | घामोरि ऑन फेस ट्रीटमेंट हिंदी 

 गर्मियों में घामोरि की समस्यां होना बहोत ही आम बात है। अक्सर कई लोगों को यह समस्यां प्रत्येक वर्ष झेलनी पड़ती है। कईओं को यह पीठ पर यानि के शरीर के पिछले हिस्से पर तो कईयों को यह समस्यां face पर देखि जाती है। के कारण और घरलू उपाय 

क्या आप जानते है घमौरियां क्यों होती है?। इस लेख में हम Ghamori On Face Treatment in Hindi  विस्तार से जानकारी प्राप्त करेंगे। जिससे आप भी इस समस्यां की अच्छे से सही जानकारी प्राप्त हो सके। तो चलिए शुरू करते है आज का यह आर्टिकल घामोरि ऑन फेस ट्रीटमेंट हिंदी। 

इसे भी पढ़ें >> Body Colour Fair Tips in Hindi

शरीर में घमौरी कैसे होता है?

जब भी गर्मी शुरू होती है और जैसे-जैसे तापमान अधिक गर्म होकर बढ़ता है। उस बढ़ते हुवे तापमान में हमारे रोमछिद्रों से निकलने वाला तेल तेजी से बढ़ता है और तब हमारी skin से पसीना निकलता है। इसके साथ ही skin संबंधी समस्याओं के मामले भी बढ़ जाते हैं। 

इन skin संबंधी समस्यां में कांटेदार गर्मी जैसी समस्याएं होना यानि के घमोरियां होना आम बात है। अत्यधिक पसीने से यह घमौरियां की समस्यां  छोटे बच्चों के साथ-साथ बड़े लोगों को भी सताती है। क्या आप जानते है घमौरी के लक्षण क्या है। तो आईये जानते है इसे बारें में। 

इसे भी पढ़ें >> Anti Aging Dry Fruits Hindi

घमौरियां क्यों होती है? : घमोरियां होने के कारण :

अब आप जरूर ये जानना चाहेंगे के कांटेदार heat rash क्यों होता है? तो जब अत्यधिक पसीने के कारण हमारे पसीने की ग्रंथियां बंद हो जाती हैं इस कारण  यह skin पर छोटे, लाल दाने उभरने लगते है यह उभरे हुए दानों को ही घमोरिया कहा जाता है। 

जब इन बंद रोमछिद्रों में सूजन आने लगती है और जब यह सूज जाते हैं तब ये जलने लगते हैं इस स्थिति को prickly heat कहते हैं। 

इन चकत्ते को खरोंचने से अक्सर छोटे घाव हो सकते हैं जब यह स्थिति सीमित हो तो बस रोजाना ठंडे पानी से नहाना ही इससे छुटकारा पाने के लिए काफी है। 

लेकिन कभी-कभी, सूजन, जलन और खुजली बहुत तीव्र हो जाती है और इसका चिकित्सकीय उपचार करना आवश्यक हो जाता है। prickly heat से नवजात शिशु और स्कूल जाने वाले बच्चे सबसे ज्यादा प्रभावित होते हैं। 

इसे भी पढ़ें >> एंटी एजिंग नाइट क्रीम के फायदे

prickly heat रैश के अन्य कारण : घमौरियां होने के अन्य कारण क्या हैं?

१) गर्मी :

क्यों की गर्मी में चुभन होती है और जब जब हवा का तापमान बढ़ जाता है और हमें बहुत पसीना आने लगता है जिसके कारण पसीने की ग्रंथियां धीरे-धीरे बंद हो जाती हैं। 

या, अगर हम भारी शारीरिक श्रम करते हैं, जिससे हमें बहुत पसीना आता है और इससे पसीने की ग्रंथियां भी बंद हो जाती हैं। 

गर्मियों में जब लोग नायलॉन (nylon) के कपड़े पहनते हैं या यदि वे अन्य सिंथेटिक (synthetic) कपड़े पहनते हैं जिससे हवा का आना - जाना बंद हो जाता है। 

यह पसीने को सूखने नहीं देता इससे शरीर ठंडा होने के लिए हमारी skin में पसीना जमा होने लगता है और यह धीरे-धीरे हमारे पसीने की ग्रंथियों को बंद कर देता है। 

गर्मियों में tight कपड़े पहनने के कारण यह पसीने को सूखने नहीं देता इससे पसीने की ग्रंथियां भी बंद हो जाती हैं, जिससे कांटेदार गर्मी के चकत्ते हो जाते हैं। 

गर्मी के महीनों में बहुत सारे oily lotion और Cream का उपयोग करने से पसीने को तेल के साथ मिलाने का कारण बनता है और परिणाम स्वरूप पसीने की ग्रंथियों में रुकावट होती है। 

२) इसका दूसरा कारण है। गर्मियों में कई दिनों तक न नहाना है। या यदि आपको गर्मी के महीनों में बुखार हो जाता है। 

ये भी होता हैं की हमारी skin पर घमौरियों के कारण कांटेदार गर्मी के  इलाज के लिये गर्मी के महीनों में आपको हमेशा ढीले, हल्के सूती कपड़े पहनने चाहिए और आपको हवादार, ठंडे कमरे में, घर के अंदर रहना चाहिए और ठंडे पानी से ही नहाना चाहिए। 

घमौरी का साबुन :

यदि आवश्यक हो, तो आप दिन में दो बार स्नान भी कर सकते हैं। इसके लिए नीम का साबुन नहाने के लिए बहुत अच्छा होता है। नीम एक natural antiseptic है और इसे साबुन के रूप में प्रयोग करने से घमौरियां कम हो जाती है।

घमौरी में क्या लगाना चाहिए?

घमोरियां होने पर अपनी skin को तौलिये से ज्यादा न रगड़ें। इसके अलावा जब आप prickly heat से पीड़ित हों, तो आपको अपनी skin पर दिन में २-३ बार calamine lotion लगाना चाहिए। 

घमोरियां मिटाने की टेबलेट :

यदि आपकी त्वचा पर अधिक खुजली है, तो आप ३-४ दिनों के लिए एक दिन में १ Levocetirizine Tablet ले सकते हैं। 

घमौरी के लिए पाउडर :

नहाने के बाद अगर आप Anti-Prickly Heat Powder लगाते हैं तो इससे भी आपको आराम मिलेगा। आपके लिए यह सबसे अच्छा घमोरियां मिटाने का पाउडर हो सकता है। 

घमौरी होने पर बहुत से लोग बहुत सारे सुगंधित talcum powder अपनी त्वचा पर लगाते हैं। लेकिन यह अच्छा नहीं है, क्योंकि सामान्य talcum powder पसीने के साथ मिल जाता है और पसीने की ग्रंथियों को बंद कर देता है। जिससे घमौरियां कम होने की बजाय और अधिक होने लगती हैं।

घमौरी के लिए कोनसा Moisturizer लगाएं :

गर्मियों के महीनों में, हमेशा अपनी skin पर केवल पानी आधारित Moisturizer का ही प्रयोग करें। तेल आधारित Cream और Moisturizer भी पसीने की ग्रंथियों को बंद कर देते हैं।  

घमौरी में कोनसी Cream का उपयोग करें :

यदि आपको घमौरियां और मुहांसे कांटेदार heat rash को खरोंचने के कारण हुआ है। तो आप प्रभावित जगह पर एक Antibiotic Cream लगा सकते हैं, जैसे Soframycin Cream. 

यदि आपके पास बहुत अधिक संक्रमित Pimple ​​हैं, तो आपको oral antibiotics लेने की भी आवश्यकता हो सकती है। 

इसे भी पढ़ें >> एंटी एजिंग नाइट क्रीम के फायदे

निष्कर्ष :

अगर आपको घमौरी से संबंधित कोई भी समस्यां है तो आप कृपया डॉक्टर की सलाह के बिना किसी भी प्रकार का इलाज खुद न करें यह कोई दवाई या Antibiotics न लें। आप चाहे तो घरलू इलाज के रुप में ठंडे पानी से जरूर नहा सकतें है। 

आशा करता हूँ, Ghamori On Face Treatment in Hindi | घामोरि ऑन फेस ट्रीटमेंट हिंदी के बारें में हमारे द्वारा दी गयी जानकारी आपको पसंद आयी होगी। 

यदि, इस लेख से संबंधित आके कोई सवाल या सुझाव है तो हमें जरूर बताएं। आपके आसपास यदि किसी को यह समस्यां ही तो यह लेख उनके साथ जरूर share करें। 

ऐसी ही रोचक और उपयोगी जानकारी के लिए हमारी वेब साइट Hindiplant से जुड़े रहें।