कमल के फूल के फायदे | 17 Benefits Of Lotus Flower (In Hindi)

धरती के कुछ सुंदर  फूलो में से कमल का फूल भी सबसे सुंदर फूलों में से एक है और यह पूरी  दुनिया में खिलते हैं। भारत में प्राचीन काल से इसका उपयोग पूजा-पाठ आदि में होता आया है।

पूरी दुनिया में कमल के फूल का उपयोग किया जाता है। परंतु इसके अलावा कमल के फूल के कई सारे फायदे है। इसके आलावा आयुर्वेद में कमल की जड़ और कमल के बीज का भी औषधीय उपयोग किया जाता है।

जी हाँ, दोस्तों कमल का फूल हमारे स्वास्थ के लिए भी उतना ही फायदेमंद है जितना की पूजा-पाठ आदि में, कमल का फूल बहोत ही  फायदेमंद औषधि हे जिसके उपयोग से आपकी कई सारी शारीरक समस्यां दूर हो सकती है।

क्या आप जानते है इसके बारें में यदि नहीं तो इस लेख को पूरा पढ़िए। इस लेख में में आपको कमल के फूल के उन फायदों के बारें में जानकारी दूंगा जो आपको अभी तक नहीं थी। और यह जानकारी कभी कभी आपको जरूर उपयोगी होगी।

जिससे आप आपकी शारीरक समस्यां को दूर कर सकेंगे। तो चलिए आगे बढ़ते हुवे जानते है कमल के फूल के फायदे। 

इसे भी पढ़ें : गुड़हल के फायदे, औषधीय उपयोग और नुकसान।

कमल के फूल की जानकारी और पहचान :

कमल का फूल एक तरह का फूल ही है लेकिन कमल का फूल तालाबों में कीचड़ में खिलता है। जिसकी जड़ें पानी के अंदर निचे कीचड़ में लगी होती है और इसके खूसूरत फूल पानी के ऊपर बैठते हैं।

कमल के फूल भी अन्य फूलों की तरह ही कई रंगो में पाए जाते है। जैसे गुलाबी, नीला, सफेद, लाल, बैंगनी आदि।कमल का फूल पूरी दुनिया में उगाया जाता है। इन फूलों का उपयोग आमतौर में दवा बनाने में किया जाता है। तो आईये जानते है कमल के फूल के फायदे और यह आपके किन-किन शारीरक समस्यां में फायदेमंद है।

इसे भी पढ़ें : पलाश असाधारण पेड़ के लाभ और उपयोग।

कमल के फूल के फायदे | 17 Benefits Of Lotus Flower (In Hindi)

१) पाचनतंत्र मजबूत करता है।

२) उच्च कोलेस्ट्रॉल और ट्राइग्लिसराइड के स्तर को कम करने में फायदेमंद है।

३) गर्मी में रक्तचाप को ऊँचा होने से बचाता है।

४) बेचैनी और अनिद्रा की समस्यां दूर करता है।

५) रक्त वाहिकाओं और केशिकाओं को मजबूत बनाता हैं।

६)  पूरे शरीर में यह खून के प्रवाह में सहायता करता है और खून के थक्के को होने से रोकता है।

७) कमल का अर्क का त्वचा के देखभाल में फायदेमंद है।

८) कमल का फूल पोषण की दृष्टि से विटामिन सी, पोटेशियम और फाइबर का एक उत्कृष्ट स्रोत है, इसके साथ इसमें थोड़ी मात्रा में विटामिन बी, प्रोटीन, फास्फोरस और लिनोलिक एसिड भी मौजूद है।

९) यह त्वचा की  चमक बढ़ाने में मदद करता है।

१०) समय से पहले बालों के सफेद होने से रोकता है।

११) कमल की हर्बल चाय, वजन घटाने में मदद करती है।

१२) कमल के फूल का उपयोग शीघ्रपतन का इलाज भी है।

१३) यह गैस्ट्रिक अल्सर के इलाज में भी उत्तम औषधि है।

१४) कमल के बीज का प्रयोग दुबली पतली मांसपेशियों को मजबूत करने में मदद कर सकते हैं और  शरीर को भी मजबूत करता ।

१५) कमल की जड़ का रस गले और फेफड़ों को साफ करने में मदद करता है।

१६) यह सर्दी-खांसी के इलाज में भी लाभकारी है।

१७) कमल का फूल जठरांत्र संबंधी विकारों का उपचार में बहोत फायदेमंद माना जाता है।

निष्कर्ष :

कमल का फूल आपके लिए बहोत फायदेमंद औषधि है। इसकी सही जानकारी और उपयोग आपकी कई प्रकार की शारीरक समस्यां को दूर करने में फायदेमंद है। तो हो सके तो इसका उपयोग जरूर करें और यदि आपको किसी प्रकार की शारीरक समस्यां हो तो इसका उपयपग करने से पहले पाने डॉक्टर या वैद्य की सलाह जरूर लें।

इसे भी पढ़ें : भृंगराज के असंख्य फायदे और उपयोग।

मुझे उम्मीद है, हमारे द्वारा दी गयी कमल के फूल के फायदे और इससे जुडी अन्य जानकारी आपको पसंद आयी हो तो कृपया इसे अपने दोस्तों तथा रिश्तेदारों के साथ जरूर शेयर करें।

यदि इस लेख के विषय में आपके पास कोई जानकारी या फिर कोई सवाल या सुझाव हो तो कमैंट्स में हमें जरूर बताएं।

हमारी धरती -पौधे, वनस्पति और जड़ी-बूटी की जानकरी के लिए हमारी वेब-साइट Hindiplant से जुड़े रहें।

Desclaimer 

यह ब्लॉग स्वास्थ्य और संबंधित विषयों के बारे में सामान्य जानकारी और चर्चा प्रदान करता है। इसे चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार के विकल्प के रूप में नहीं माना जाना चाहिए या इसका उपयोग नहीं किया जाना चाहिए। यह ब्लॉग किसी भी चिकित्सा, नर्सिंग या अन्य पेशेवर स्वास्थ्य देखभाल सलाह, निदान या उपचार का अभ्यास नहीं करता है। हम इस ब्लॉग या वेबसाइट के माध्यम से स्थितियों का निदान नहीं कर सकते हैं, या उपचार की विशिष्ट सिफारिशें नहीं कर सकते हैं।

यदि आपको या किसी अन्य व्यक्ति को कोई चिकित्सीय चिंता है, तो आपको अपने रजिस्टर्ड मेडिकल डॉक्टर से परामर्श करना चाहिए। या तुरंत अन्य पेशेवर चिकित्सा उपचार की तलाश करनी चाहिए। इस ब्लॉग, वेबसाइट या किसी भी लिंक की गई आर्टिकल में आपने जो कुछ पढ़ा है, उसके कारण कभी भी पेशेवर डॉक्टर की चिकित्सा और सलाह लेने में देरी न करें।

Related Article :

Leave a Reply

%d bloggers like this: