बेलपत्र का पेड़ कैसे लगाया जाता है?। How To Grow Bel Patra Plant In Hindi

बेलपत्र का नाम  सुनते ही भगवान शिव की तस्वीर मन में उभरने लगती है। हिन्दू धर्म में बेलपत्र का पेड़ बहुत ही शुभ माना जाता है। धार्मिक मान्यता के अनुसार भी बेल का पेड़ का महत्व कई सारे पेड़ -पौधों में विशेष है।

विशेष गुणों से भरूर बेलपत्र का पेड़ भगवान शिव को अतिप्रिय है। इसके कई सारे गुणों से लेकर धार्मिक महत्व को देखते हुए कई लोग इस वृक्ष को घर आँगन में लगाना चाहते है।

तो चलिए जानते है बेलपत्र का पेड़ कैसे लगाया जाता है? और आप भी किस तरह आसानी से अपने मन मुताबिक घर, आँगन तथा गमले में इसे लगा कर बड़ा कर सकतें है।

और जानिए >>

बेलपत्र का पेड़ कैसे लगाया जाए? 

बेलपत्र के पौधे को आप २ तरह से लगा सकतें है। इस पौधे को आप बेलपत्र के पेड़ की कटिंग से या फिर बेलपत्र का बीज का उपयोग कर के अपनी मनचाही जगह पर आसानी से लगा कर बड़ा कर सकतें है। मगर इस लेख में हम बीजों से बेलपत्र के पौधे को उगाने के बारे में जानेंगें ,यह तरीका १०० प्रतिशद कारगर  है।

बेलपत्र का फल :

बेलपत्र-का-पेड़-कैसे-लगाया-जाता-है

 बेलपत्र को बीजों से लगाने का तरीका : हाउ तो ग्रो बेल पत्र प्लांट एट होम 

बेलपत्र को इसके बीजों से लगाने का तरीका बहुत ही आसान है। इसके लिए आपको बेलपत्र के बीजों की जरूरत पड़ेगी। जो आपको बेलपत्र के फल से प्राप्त होंगे।

 पेड़ को लगाने के लिए आप बेलपत्र के एक फल को तोड़ लें। इसमें ध्यान देने वाली वाली बात यह है के आपको पेड़ लगाने के लिए इसके पके हुवे फल के बीज का उपयोग करना है। कच्चे फल के बीज आपके पेड़ को तैयार नहीं होंगे देंगे।

तो जब भी आपको बेलपत्र के पेड़ को इसके बीजों से उगाना हो तब इसके पके हुवे फल के बीजों का ही उपयोग करें। जब भी बेलपत्र के फल कच्ची अवस्था में होते है तब उनका रंग  पूरी तरह से हरा होता है। और पकने पर यह फल पिले पड़ जाते है।

आप बेलपत्र के पेड़ के पिले रंग के पके हुवे फलों के बीजों से इस पेड़ को लगा सकतें है। सबसे पहले आप बेल के पके हुवे फल के बीजों को निकाल लें। आप इन बीजों को स्टोर करके भी रख सकतें है।

इन बीजों में से आप ७ से ८ बीजों को ले कर अच्छी तरह ३ से ४ पानी में अच्छी तरह से धो लें। अच्छी तरह से इनके बीजों को धोनें से इनमें फंगस नहीं लगती और आपके बीजों की बढ़ने की क्षमता बढ़ जाती है।

इसके बाद आपको इन बीजों को अंकुरित ( sprouted ) करना है। आप जिस भी तरह चाहो इन्हे अंकुरित कर सकतें है। इसको अंकुरित होने में लगभग ७ से ८ दिनों का समय लगता है। यदि आप नहीं जानते इन बीजों को अंकुरित कैसे करें। तो आईये जानते है।

आप इन बीजों को अंकुरित करने  के लिए १ टिश्यू पेपर का इस्तमाल कर सकतें है। अंकुरित करने के लिए आप १ टिश्यू पेपर में बेलपत्र के ७ से बीजों को या फिर अपने हिसाब से कुछ बीजों को टिश्यू पेपर के बिच में रख कर इसे टिश्यू पेपर से ही  ढक लें। इसके बाद इस टिश्यू पेपर को पानी छिड़क कर भिगों लें।

इसके बाद इस भीगे हुवे टिश्यू पेपर को एक प्लास्टिक की पॉलीथिन में रख कर सारी हवा को बहार निकाल कर पॉलीथिन को एयर टाइट कर लें। और इसे एक एयर टाइट प्लास्टिक के डब्बे में रख दें।

इस प्लास्टिक के डब्बे को सीघे ( सनलाइट ) सूर्य प्रकाश में न रखें। ७ से ८ दिनों तक इस टिश्यू पेपर में नमी बरकरार रखें।  पेपर सूखते ही इसमें फिरसे थोड़ा सा पानी छिड़कें और नमी बरकरार रखें

७ से दिनों के बाद इन बीजों को बहार निकाले आप देखेंगे इस समय में आपके बीज अंकुरित हो गए होंगे। इन बीजों को ध्यान से टिश्यू पेपर से बहार निकालें।

अब किसी  पॉ या गमले में जहाँ आप इस पौधे को उगाना चाहते हो उसमें थोड़ा सा कोको पिट ले लें। कोको पिट मतलब सूखे हुवे नारियल के छिलके का बुरादा होता है। कोको पिट किसी भी बीज को जल्दी बढ़ने में मदद करता है।

यदि आप के पास कोको पिट अवेलेबल नहीं हो तो आप आधी मिटटी और आधी रेत का भी उपयोग कर सकतें है। इस मिटटी में छोटा छेद बना लें और इसमें अंकुरित हुवे ३ से ४ बीजों थोड़े थोड़े अंतर में इस छेद में डाल कर मिटटी को हलके से दबा  दें। आपको इनके रूट्स का ध्यान रखना है। और ऊपर से थोड़ा सा पानी डालें।

इस पॉट को आप सीधे सूर्य प्रकाश में न रखें और किसी धुप-छाँव वाली जगह पर रखें। जहाँ सूर्य प्रकाश सीधे इस गमलें में न पड़ें। और गमलें में नमी बरक़रार रखें।

१० से १२ दिनों में इन बीजों से पौधा मिटटी से  बहार आकर अंकुरित होगा। इसके बाद और कुछ १५ दिनों तक इस गलमें में पौधे को बड़ा होने दें। इसके बाद आप इस बेलपत्र के पौधे को गमले से निकाल का अपनी मनचाही जगह पर लगा दें।

इस तरह आप आसानी से बेलपत्र के बीजों को अंकुरित करके बेलपत्र के पेड़ को लगा कर बड़ा सकतें है। तो  आप बेलपत्र के पौधे को  आँगन में जरूर लगाएं और अपने घर की शोभा जरूर बढ़ाएं।

जानने लायक विषय >>

आशा करता हूँ बेलपत्र का पौधा घर में कैसे लगाएं? के विषय में सही और उपयोगी जानकारी मिली होगी। इस लेख में मैनें किस तरह बेलपत्र का पौधा कैसे लगाया जाता है? विषय में पूरी जानकारी देने की कोशिश की है।

फिर भी इस लेख से संबंधित या फिर आपके मन में कोई अन्य सवाल या सुझाव हो तो निचे कमैंट्स में हमें जरूर बताएं। बेलपत्र इस लेख को अपने दोस्तों तथा रिश्तेदारों के साथ अन्य शोशियल मीडिया Facebook, Instagram और Whatsapp पर जरूर शेयर करें।

हमारी धरती के पेड़, पौधे, वनस्पतिऔर जड़ी-बूटी की रोचक तथा उपयोगी जानकारी के लिए हमारी वेब साइट Hindiplant से जुड़ें रहें।

Leave a Reply

%d bloggers like this: