हल्दी हैं गुणो का भंडार जानेंगे फायदे और नुकसान।

हल्दी हैं गुणो का भंडार जानेंगे फायदे और नुकसान।

हल्दी हैं गुणो का भंडार जानेंगे फायदे और नुकसान।

भारत देश में हल्दी का उपयोग प्रत्येक घरों में मसालों के तौर पर रसोई बनाने में किया जाता है। हल्दी की छोटी सी गाँठ में कई ऐसे पोषक तत्व मौजूद है जो आपके स्वास्थ के लिए बेहद फायदेमंद है। 

हमारे प्राचीन ऋषि-मुनि हल्दी के फायदे कई सौं सालों पहले से ही जानते थे और आज भी वैज्ञानिक हल्दी के गुणों के बारें में जानने के लिए इसके अध्ययन में लगे है। 

आप के घरों में भी हल्दी का उपयोग होता तो है। मगर क्या आप हल्दी और इसके फायदे के बारें में जानते है। हल्दी में कई सारे ऐसे औषधीय गुण मौजूद है। इसीलिए हल्दी के उपाय से आप आपकी कई तरह की शारीरक समस्यां दूर ही नहीं बल्कि ठीक भी कर सकतें  है। 

इस लेख में हम इसी के बारें में विस्तार से जानकारी लेंगे तो चलिए शुरू करतें है आज का हमारा महत्व पूर्ण विषय  हल्दी हैं गुणो का भंडार जानेंगे फायदे और नुकसान।

और पढ़ें >>

क्या है हल्दी :

हल्दी का वैज्ञानिक नाम कुरकुमा लौंगा (Curcuma longa) है। आयुर्वेद के अनुसार हल्दी एक तरह की औषधीय जड़ी-बूटी है। दुनिया भर में सबसे ज्यादा हल्दी का उपयोग  भारत में रसोई बनाने में किया जाता है। 

हल्दी में आपके शारीरक स्वास्थ को ठीक करने के कई सारे औषधीय गुण मौजूद है। हल्दी का आप बाहरी और आंतरिक दोनों तरह से  औषधीय उपयोग कर सकतें है। दोनों ही तरह से इसके उपयोग से आपको इसके स्वास्थ लाभ ही देखने को मिलते है। 

हल्दी चोट लगने, काटने पर बहुत उपयोगी औषधि मानी जाती है। हल्दी कफ, खांसी के साथ कई सारे रोगों के इलाज में काम आती है। 

साथ ही हल्दी का प्रयोग सौंदर्य निखारने में प्राचीन काल से ही होता आया है। आज के समय में हल्दी का प्रयोग कई सारे सौंदर्य प्रसाधन, लेप और क्रीम बनाने में किया जाता है। 

दुनिया भर में मिलने वाली हल्दी में सबसे अधिक गुण भारत में पायी जानेवाली हल्दी में ही देखे गए है। जैसे की  पाकिस्तानी हल्दी या फिर किसी और देश की हल्दी में भारतीय हल्दी  जितने पोषक तत्व नहीं पाए जाते। 

हल्दी में कौन सी विटामिन पाई जाती है?

हल्दी में क्या होता है? हल्दी में प्रचुर मात्रा में कर्कुमिन (Curcumin) नामक तत्व मौजूद है। जो आपके स्वास्थ के लिए बहुत फायदेमंद माना जाता है। साथ ही हल्दी में एंटीऑक्सीडेंट्स और  एंटीकैंसर जैसे औषधीय तत्व मौजूद है। 

तो आईये जानते है हल्दी के फायदे क्या है और किन-किन शारीरक समस्यां को दूर रखने में यह हमें फायदेमंद है। 

और पढ़ें >> काली मिर्च खाने के अनेक फायदे, उपयोग और नुकसान।

हल्दी के क्या फायदे?

१) सर्दी खांसी में हल्दी गरम पानी के फायदे :

बार बार सर्दी, खांसी तथा गले में दर्द की समस्यां होने पर हल्दी पाउडर को दूध या गर्म पानी के साथ सेवन करने से आपकी इन समस्यांओं में यह प्रयोग आपको बहुत फायदा देगा। 

२) शहद और हल्दी के फायदे :

आप हल्दी पाउडर को शहद तथा घी में मिलाकर भी सेवन कर सकतें है। दूध हल्दी घी के फायदे आपकी सर्दी, खांसी, गले में दर्द तथा गले की कई प्रकार की समस्यां को दूर करेगा। 

३) खून शुद्ध करता है हल्दी का सेवन :

नियमित रूप से आप दूध और हल्दी का सेवन करें तो यह प्रयोग  खून की खराबी को भी दूर करके आपके खून को शुद्ध करता है। 

४) हल्दी फोर स्किन : त्वचा निखारे :

नियमित रुप से यदि आप दूध, पानी या शहद के साथ आधा चम्मच हल्दी का सेवन करते है तो आपकी त्वचा का रंग हल्का होगा और त्वचा निखरने लगेगी। यह प्रयोग लम्बे समय से बाद आपको फायदा देगा। 

इसके आलावा नहाने के पानी में आधा चम्मच हल्दी मिलाकर नहाने से आप तरोताजा महसूस करेंगे। और इसमें मौजूद औषधीय गुण  आपकी त्वचा को सुन्दर तथा स्वस्थ बनाने के साथ शरीर के कीटाणुओं की भी सफाई कर देगा। 

५) कैंसर से बचाये हल्दी के फायदे :

आप लिली हल्दी, आम्बा हल्दी को चटनी बनाकर यदि सेवन करतें है। तो इसमें मौजूद करक्यूमिन नाम का तत्व आपको कैंसर से बचाता है। 

६) खिल, मुंहासे दूर करें हल्दी और चंदन के फायदे :

हल्दी में मौजूद एंटीसेप्टिक और एंटीबेटेरियल गुण खील, मुंहांसे को भी दूर करने में मदद करते है। इसके लिए आप हल्दी और चंदन के लेप को चहेरे पर लगा सकतें है। या फिर आप सिर्फ हल्दी के लेप का भी उपयोग कर सकतें है। 

७) मोटापा कम करें हल्दी खाने के फायदे :

हल्दी दूध के लाभ मोटापा कम करने में भी बहुतउपयोगी है। इसमें मौजूद कैल्सियम और मिनरल्स के साथ अन्य पोषक तत्व शरीर से अतिरिक्त चर्बी को हटाने और मोटापा कम कने में फायदेमंद है। इसलिए जो लोग मोटापा कम करना चाहते है वे खाना खाने के कुछ देर बाद हल्दी को दूध में मिलकार जरूर सेवन करें। 

८) सांस सम्बन्धी समस्यां दूर करें हल्दी के औषधीय गुण :

हल्दी में एंटी माइक्रोबियल गुण होते है। इसलिए हल्दी वाला दूध का सेवन करने से दमा, ब्रोंकाइटिस, कफ, और साइनस जैसी समस्यां में आपको आराम मिलता है। साथ यह आपके शरीर में गर्मा हट लाता  है। 

९) रोग प्रतिरोधक शक्ति बढ़ाए हल्दी दूध पीने के फायदे :

हल्दी पाउडर इसमें मौजूद एंटीबायोटिक गुण आपकी रोग प्रतिरोधक शक्ति को बढ़ाता है। इसलिए आप कम बीमार होते है। 

१०) घाव, चोट की समस्यां में हल्दी के उपयोग :

चोट, मोच या घाव होने पर चोट वाले स्थान पर हल्दी का लेप लगाने से घाव से होने वाले संक्रमण से आपका बचाव होता है। इसमें हल्दी एंड मिल्क पिने से आपकी भीतरी चोट ठीक होने लगती है और घाव जल्दी भरने लगता है। 

११) मुँह के छालें  दूर करें हल्दी खाने का फायदा :

हल्दी के पाऊडर को गर्म पानी में मिलाकर इस गुनगुने पानी से कुल्ला करने पर आपके मुँह के छालें जल्दी ठीक होने लगते है। यह प्रयोग आप दिन में ३ बार कर सकतें है। 

११) हड्डियों को मजबूत बनाएं हल्दी के प्रयोग :

हल्दी में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट और दूध में मौजूद कैल्सियम का सेवन ( हल्दीवाला दूध ) आपकी हड्डियों को मजबूत करने के साथ आपकी रोगप्रतिरोघक शक्ति को भी बढ़ाता है। यह आपकी हड्डियों को होने वाले नुकसान से भी बचाता है। 

हल्दी के नुकसान :

हल्दी का सेवन रसोई में तो आपके स्वास्थ के लिए फायदेमंद है।  मगर हल्दी की तासीर गर्म होती है और यह एक औषधि है तो यदि आप किसी भी प्रकार की औषधि का अधिक सेवन करते है तो यह आपको फायदे के बजाय नुकसान दे सकती है। 

उसी तरह हल्दी का अधिक सेवन भी आपको आपके स्वास्थ को देखते हुवे नियंत्रित मात्रा में ही करना चाहिए.तो चलिए जानते है अधिक हल्दी के सेवन से आपको क्या नुकसान हो सकतें है। और हल्दी के सेवन करने से पहले आपको  क्या क्या सावधानियां रखनी चाहिए। 

रिसर्च के मुताबित आपको अधिक हल्दी का सेवन नुकसान पहुंचा सकता है। इसलिए आपको हल्दी की २४० से ५०० मिलीग्राम की मात्रा का ही ३ बार में प्रयोग करना उचित बताया गया है। 

  • हल्दी की तासीर गर्म होती है इसलिए इसका अधिक सेवन गर्मिओं में नहीं करना चाहिए। 
  • खून से संबंधित किसी भी प्रकार की बिमारियों में हल्दी का  करना चाहिए। 
  • अधिक मासिक की समस्यां से पीड़ित महिलाओं को हल्दी के अधिक सेवन से बचाना चाहिए। 
  • गर्भवती महिलाओं को अतिरिक्त हल्दी का सेवन नहीं करना चाहिए। 
  • लीवर से संबंधित या  पथरी की समस्यां में हल्दी का सेवन नहीं करना चाहिए। 
  • पेट में गर्मी, अल्सर या एसिडिटी की समस्यां होने पर हल्दी का सेवन नुकसान पहुंचा सकता है।
  • मधुमेह के रोगिओं को अधिक हल्दी का सेवन नहीं करना चाहिए यह  शर्करा के स्तर को तेजी से कम करता है। 
  • किडनी की किसी राकर की  हल्दी के सेवन से बचना चाहिए। 
  • पुरुषों में अधिक हल्दी का सेवन उनके टेस्टोस्टरोन हार्मोन के स्तर को कम करता नपुंसकता की परेशानी  सकता है। 
  • शरीर में अधिक खून की कमी होने पर अधिक हल्दी का सेवन नहीं करना चाहिए। 
  • बवासीर या नकसीर की समस्यां को हल्दी का अधिक सेवन खून को बढ़ा सकता है। 

और पढ़ें >>

तो इस लेख में आपने हल्दी के फायदे और नुकसान के बारें में जानकारी ली । आप भी  हल्दी का सेवन से आपकी कई प्रकार की शारीरक समस्यां को दूर करने में कर सकतें है। 

इस लेख में मैनें हल्दी के विषय में कई सारी जानकारी देने की कोशिश की। यदि आपको यह लेख हल्दी हैं गुणो का भंडार जानेंगे फायदे और नुकसान अच्छा लगा हो तो कृपया इसे अपने दोस्तों तथा रिश्तेदारों के साथ या किसी जरुरत मंद को अन्य शोशियल मीडिया Facebook, Instagram और Whatsapp पर जरूर शेयर करें। 

यदि आपके पास हल्दी के विषय में कोई सवाल या सुझाव हो या फिर इस विषय से संबंधित कोई उपयोगी जानकारी हो तो निचे कमैंट्स में हमें जरूर बताएं। 

हमारी धरती के पेड़, पौधे, जड़ी-बूटी और वनस्पति की ऐसी ही रोचक जानकारी के लिए हमारी वेबसाइट Hindiplant  से जुड़े रहें।