पीपल पेड़ के हैं असंख्य फायदे और घरेलु उपाय।

हमारी धरती पर  कुछ वृक्ष वरदान समान हे और उनके फायदे भी असाधारण हे। इसी तरह पीपल के पेड़ के भी असंख्य फायदे है। 

यह  हमारे प्राचीन ग्रन्थ तथा ऋषि- मुनियों  का  हज़ारो वर्षों  का निचोड़ हे।  स्वयं कृष्ण भगवान् के मुख से पीपल के वृक्ष का उल्लेख मिलता है। 

पीपल का पेड हमारे लिए कितना उपयोगी हे यह सभी जानते हैं । क्यों की यह हमें २४  घंटे ऑक्सीजन प्रदान करता है और बिना ऑक्सीजन के घरती पर जीवन संभव नहीं है। 

वैसे तो सभी पेड़ पौधे हमें प्राणवायु (ऑक्सीजन) प्रदान करतें है मगर इन सभी में पीपल का वृक्ष कुछ ख़ास है। 

दोस्तों हिन्दू धर्म में पीपल के पेड़ की वर्षों से पूजा होती आ रही हे। और इसके औषधीय गुणों का लेखा जोखा हमारे पुराणों में भी मिलता है। 

यदि पीपल का पेड़ आपके लिए कितना फायदेमंद है आप नहीं जानते तो यह लेख आपको पूरा पढ़ना चाहिए। जिससे की आपको इस दिव्य पीपल के पेड़ के असंख्य फायदे और इसेक घरेलु उपाय के बारें में जानकारी मिल सकें तो चलिए शुरू करते है। 

और पढ़ें : अमलतास क्या है? जानेंगे इसके फायदे और नुकसान।

पीपल के फायदे :

 पीपल का पेड औषधीय गुणों से भरपूर होता है। इसकी सही जानकारी और उपयोग से असाहय समजी जानेवाली बिमारियों में भी पीपल का पेड़ का उपयोग  बेहद गुणकारी हे। इसके ज़रिये आप इन बिमारियों को दूर कर इसका इलाज कर सकतें है। 

पीपल के पेड़ के उपयोग से नपुंसकता,अस्थमा, गुर्दे, कब्ज़ जैसे अन्य बिमारियों को भी दूर किया जा सकता है।

हमारे शरीर के लिए पीपल का पेड़ बहोत ही लाभदायक है। यह पीलिया, कतौँदी, मलेरिया, खांसी,और अस्थमा जैसी समस्याओं में रामबाण इलाज हे। 

इसमें पीपल की शाखाओं, लकड़ी और जड़ का प्रयोग किया जाता है। अगर आप भी पीपल के पेड़ के स्वस्थ लाभ से अनजान है तो आज आपको, इससे जुड़ें  कुछ फायदों के बारे में बताने जा रहे है। जो आपके शरीर और सेहत दोनों के लिए बहुत फायदेमंद है। 

और पढ़ें : 

पीपल के पेड़ के फायदे और घरेलु उपाय :

सांस की परेशानी में फायदेमंद है पीपल की छाल :

सांस संबंधी  किसी भी प्रकार की समस्या में  पीपल का पेड़ आपके लिए बहोत फायदेमंद हो सकता है। उसके लिए पीपल के पेड़ की छाल का अंदरूनी हिस्सा निकालकर सूखा लें। सूखने के बाद इस का चूर्ण बना लें। और इस चूर्ण को सुबह खली पेट खाने से साँस सम्बन्धी समस्या दूर हो जाती है। 

दमा (अस्थमा) में पीपल के पत्ते के लाभ :

पीपल के पत्तों को दूध में डालकर उबालकर पिने से दमा में लाभ मिलता है। यानि जो asthma patient हे वो नियमित इसका सेवन करें तो यह उनके लिए काफी फायदेमंद हे। 

दांतों की समस्यां दूर करे पीपल की लकड़ी के फायदे :

दांतों के लिए भी ये वृक्ष काफी फायदेमंद हे , पीपल लकड़ी का दातुन करने से दांत मज़बूत होते है और दांतों में दर्द की समस्या दूर हो जाती है तथा साँस की बदबू भी दूर हो जाती है। 

इसके आलावा १० ग्राम पीपल की छाल, कथ्था और २ ग्राम काली मिर्च को बारीक़ पीसकर बनाये गए मंजन का उपयोग करने से भी दांतों की समस्याएं दूर हो जाती है। 

बिच्छू काटने पर पीपल के फायदे :

ज़हरीले जिव जंतु के काट लेने पर भी पीपल के नए ताज़े पत्तों का रस निकलकर गरम पानी में थोड़ी थोड़ी दे में पिने पर दर्द कम होता है। 

फोड़े, फुंसी में पीपल हे फायदेमंद :

बदन पर फोड़ी और फुंसी होने पर पीपल के पेड़ की छाल को पीसकर लगाने से फोड़ी जल्दी जल्दी ठीक होने लगती है। 

त्वचा में लाभकारी हे पीपल का पेड़ :

त्वचा पर घाव होने पर भी इसकी छाल को पीसकर लगाने से घाव जल्दी भरने लगता है, तथा घाव सूखने में मदद मिलती है। तथा रोज़ाना इस लेप का प्रयोग करने से और पीपल की छाल लगाने से भी घाव जल्दी भरता है और जलन भी नहीं होती

त्वचा का रंग निखारने में भी पीपल की छाल का लेप या पत्तों का उपयोग किया जाता है, इसके आलावा स्किन की झुर्रियों को भी कम करने में मदद करता है।

पीपल की ताज़ी जड़ को भिगोकर त्वचा पर इसका लेप  करने से झुर्रियां कम होने लगती है। पीपल आपकी त्वचा  को तरोताज़ा भी बनता है, यंग बनाता है, फ्रेश बनाता है। 

आप भी चाहते है की बढ़ती उम्र के साथ आपकी त्वचा  हमेशा जवान  रहे और बढ़तीं  उम्र के साथ आपकी त्वचा ढीली न पड़े तो पीपल की ताज़ी जड़ को भिगो लीजिये और उसको पीस आरके अपनी स्किन पे लगाइये। 

मूड अच्छा करे पीपल का उपयोग :

पीपल antioxidant से भी भरपूर होता है इसके कोमल पत्तों को नियमित रूप से चबानेसे तनाव में कमी आती है आपका मूड अच्छा रहता है और बढ़ती उम्र का असर भी आप पर काम होता है। 

पीलिया में पीपल हे फायदेमंद :

पीलिया होने पर पीपल के ३ से ४ नए पत्तो के रस में मिश्री मिलाकर बनाये गए शरबत को पीना बहोत फायदेमंद होता है, इसे ३ से ५ दिन तक दिन में २ बार पिने से पीलिया बहोत जल्द चला जायेगा। 

हकलाने की सम्म्स्यां दूर करे पीपल का प्रयोग :

पीपल के पके हुवे फलों को सुखाकर बनाये गए चूरन में मिलकर सेवन करनेसे हकलाने समस्या दूर होती हे साथ ही अप्पकी वाणी बहोत मीठी हो जाती  है साथ ही आवाज़ मधुर हो जाती है। 

सारांश :

पीपल के पेड़ का उपयोग हजारो वर्षों से शारीरक बिमारियों के उपचार में ऋषि-मुनि करते आये है। इसलिए आप भी इसकी सही जानकारी की मदद से पीपल के पेड़ के फायदे का उपयोग कर आपकी कई सारी शारीरिक समस्यां को दूर करने में पीपल का उपयोग करें और स्वस्थ रहें। 

और जानिए >>

तो इस लेख में आपने पीपल के पेड़ के असंख्य फायदे के बारें में विस्तार से जाना और साथ ही इसके घरेलु उपाय के विषय में भी जाना। इस लेख के माधयम से आपको आपके मन में उठने वाले कई सवालों के जवाब मिले होंगे। 

आपके पास भी  पीपल के बारें में उपयोगी जानकारी हो या फिर इस लेख से संबंधित कोई सवाल  तो कृपया उसे कमैंट्स  में हमें जरूर बताएं। शायद आपकी दी हुवी जानकारी किसी का भला कर सकें। 

आशा करता हु यह लेख पीपल पेड़ के हैं असंख्य फायदे और घरेलु उपाय आपको अच्छा लगा हो तो इसे अपने दोस्तों तथा रिश्तेदारों के साथ अन्य सोशिअल मीडिया Facebook , Instagram और  Whatsapp पर जरूर शेयर करें। 

हमारी धरती के पेड़, पौधे, जड़ी-बूटी और वनस्पति की उपयोगी जानकारी के लिए हमारी वेबसाइट Hindiplant के साथ जुड़े रहें। 

Leave a Reply

%d bloggers like this: