करिश्माई हैं, खजूर खाने के फायदे एवं लाभ।

करिश्माई हैं, खजूर खाने के फायदे एवं लाभ।


करिश्माई हैं, खजूर खाने के फायदे एवं लाभ। 

नमस्कार दोस्तों खजूर खाने के फायदे एवं लाभ में आपका स्वागत है। इसे अंग्रेजी में Dates के नाम से जाना जाता है। बात करें खजूर की तो यह हमें खजुरी के पेड़ से प्राप्त होता है और यह एक पौष्टिक फल है। 

खजूर का उपयोग ड्राई फ्रूट्स के रूप में भी जाता है। यह हमारे स्वास्थ के लिए किसी उत्तम औषधि से कम नहीं। आयुर्वेद ने भी इसे करिश्माई औषधि के रूप में स्वीकारा है। 

खजूर खाने के फायदे इतने सारे हैं, जो आप शायद ही आप जानते होंगे। इनका उपयोग हमारे कई सारे रोगों को लड़ने और दूर करने में फायदेमंद है। 

कमी है, तो बस इसकी सही जानकारी की। इसलिए आज के इस लेख में हम खजूर के करिश्माई फायदे और लाभ के विषय में विस्तार से जानकारी लेंगे। तो फिर चलिए शुरू करते है। 

और पढ़ें >>

खजूर की पहचान और जानकारी :

खजूर का वानस्पतिक नाम Phoenix sylvestris है। यह हमें खजुरी के पेड़ से प्राप्त होता है। खजूर का पेड़ की ऊंचाई लगभग ४० से ५० फिट तक होती है।

भारत के लगभग सभी प्रदेशों में खजूर के पेड़ देखे जा सकते है। इसके पत्ते नुकीले व कांटेदार होते है। खजूर के पेड़ का तना भी कांटेदार पत्तों से लदा हुवा होता है।

जैसे जैसे खजूर का पेड़ बढ़ते जाता है वैसे - वैसे इस के कांटेदार तने पर लदे हुवे पत्ते गिरते जाते है और पेड़ बड़ा होता जाता है। इसके फल की बात करें जिसे हम खजूर के नाम से जानते है। इसके फल गर्मिओं में लगते है और वर्षा आते -आते पक जाते है।

खजूर के फल कच्चे होने पर वह हलके भूरे रंग के होते है और पकने पर यह गहरे भूरे रंग के हो जाते है। इनके अंदर बड़ी गुठली होती है।

स्वाद में ये फल स्वादिष्ट, मीठे तथा पौष्टिक होते है। इन पेड़ों से रस भी निकाला जाता है जिसे ताड़ी भी कहते है। इस रस उपयोग चीनी, गुड़ और मादक द्रव्य बनाने में होता है।

खजूर में विटामिन्स और पोषकतत्व।

खजूर में विटामिन बी ६, प्रोटीन, फाइबर, कर्बोहिड्रेटस, पोटेशियम, मैग्नीशियम, कॉपर, कैलोरी, मैंगनीज, लोहा, फैट, फोस्फरस, एमिनोएसिड, आदि तत्व पाए जाते है। चलिए जानते है खजूर खाने के फायदे और लाभ क्या है ?

खाली पेट खजूर खाने से क्या फायदा?

वैसे तो खजूर का सेवन कभी भी किया जा सकता है। मगर यहाँ बात करेंगे खाली पेट खजूर खाने के फायदे?

१) सुबह खाली पेट खजूर खाने से हमारे शरीर की तुरंत ऊर्जा मिलती है।

२) खजूर में पाया जाने वाला फाइबर ब्लड कोलेस्ट्रॉल की मात्रा कम कर ह्रदय को मजबूर करता है तथा दिल बिमारियों से आप को बचाता है।

३) रात में पानी में भिगोकर सुबह खाली पेट खजूर खाने से कब्ज की समस्यां दूर होती है और पेट स्वस्थ रहता है।

४) महिलाओं में हीमोग्लोबिन की कमी को दूर करता है खजूर का सेवन।

५) खजूर में उपस्थित विटामिन्स रोगप्रतिरोधक क्षमता को बढ़ता है।

६) आँखों और त्वचा के लिए फायदेमंद है खजूर।

७) नर्वस सिस्टम को मजबूत करता है खजूर में उपस्थित पोटेशियम।

८) रक्तचाप नियत्रित करता है खजूर।

९) खजूर में मौजूद न्युट्रनट्स बालों को मजबूत बनाये रखने में मदद करते है।

१०) त्वचा को जवान बनाये रखनें में लाभकारी है खजूर का सेवन।

रोज कितने खजूर खाने चाहिए?

वैसे खजूर का सेवन कितनी भी संख्या में किया जा सकता है। मगर यदि आप खजूर का सेवन कर लाभ लेना चाहते हैं। तो रोजाना आप ४ से ५ खजूर सेवन सुबह  पेट या फिर दिन भर में २ - २ की मात्रा में करना फायदेमंद होता है। 

खजूर खाने के फायदों से लाभ लेने के लिए खजूर का सेवन कम से कम ३० दिनों तक करना चाहिए। इस से आपको इसके अच्छे परिणाम देखने को मिलते है। 

खजूर खाने से क्या लाभ है?

१) फाइबर में उच्च है खजूर। 

२) एंटी ऑक्सीडेंट रोगों से लड़ने में मदद करता करता है। 

३) मानसिक विकार दूर करता है खजूर। 

४) शारीरक शक्ति को बढ़ता है। 

५) प्राकृतिक फ्रुक्टोस और मीठे का बेहतरीन संगम हे खजूर। 

६) खजूर खून में मौजूद शर्करा को नियत्रित करने में उपयोगी है। 

दूध में खजूर खाने के क्या फायदे?

दोस्तों, वैसे भी दूध और खजूर दोनों ही ताकत के भरपूर स्त्रोत  होते है। और इन दोनों  मिलाकर खाया जाए तो इसके फायदे करिश्माई हो सकतें है। आईये जानते है खजूर और दूध के फायदे। 

खजूर में मौजूद फ्रुक्टोस और ग्लूकोस  ऊर्जा बढ़ाने का उत्तम स्त्रोत माना जाता है। इसे दूध में मिलाकर सेवन करने से आपके शरीर को यह फ़ौरन ऊर्जा प्रदान करता है। सुबह में खली पेट खजूर सेवन फायदेमंद  होता है। 

खजूर वाला दूध कैसे बनायें ?

खजूर और दूध बनाने की विधि यह है के ४ से ५ खजूर को इसके बीज निकाल कर १ गिलासदूध में डालकर पकाएं। इसे थोड़ा ठंडा करके गुनगुना ही सेवन करें। सुबह नाश्ते में यह  फायदेमंद होगा। 

  • इस खजूर शेक के फायदे खूब है। 
  • पाचनतंत्र मजबूत करता है। 
  • फ़ौरन ऊर्जा प्रदान करता है। 
  • फाइबर की मात्रा कब्ज को दूर करती है। 
  • फोस्फरस दाँतों और मसूड़ों को मजबूत बनाता। है। 
  • कैल्शियम की कमी को  हड्डियां मजबूत  करता है। 
  • खून बढ़ा कर अनिमियाँ दूर करता है। 
  • विटामिन बी ६ दिमाग तेज़ करता है। 
  • त्वचा निखारने में सायदेमन्द है। 

खजूर खाने के नुकसान :

दोस्तों, किसी भी वस्तु का आप जरुरत से ज्यादा मात्रा में करते हैं तो उससे फायदे की बजाय नुकसान हो सकता है। वैसे ही यदि खजूर के भी अधिक सेवन आपको कुछ नुकसान होना संभव है। तो आईये जानते हे खजूर खाने के नुकसान?

पेट दर्द की समस्यां हो सकती है :

मांशपेशियों की समस्यां हो सकती है। 

पोटेशियम की उपस्थिति के कारण खजूर का अधिक सेवन शरीर में मौजूद पोटेशियम लेवल  स्तर बढ़ा सकता है, जिस से मांसपेशियों की समस्यां, जोड़ों में दर्द जैसे परेशानी हो सकती है। 

खजूर का अधिक सेवन इस में मौजूद फाइबर से पेट दर्द जैसी परेशानी हो सकती  है। 

रक्तचाप में खजूर के नुकसान :

इस के ज्यादा सेवन  रक्तचाप की परेशानी बढ़ सकती है। 

अलर्जी हो सकती है। 

अधिक खजूर का सेवन करने से अलर्जी की समस्यां हो सकती है। 

मधुमेह की परेशानी सो सकती है। 

खजूर में मौजूद शर्करा अधिक मात्रा मधुमेह की समस्यां को बढ़ा सकता है। 

निष्कर्ष :

हम हमारे कई शारीरक बिमारियों का इलाज घरेलु उपचार से सही जानकारी की मदद से कर सकतें है। वैसे ही खजूर के फायदे और इसके उपयोग हमें हमारी दैनिक दिनचर्या में करना चाहिए। 

खजूर एक उपयोगी फल है  खजूर उपयोग कर हमें हमारे स्वास्थ को बेहतर बनाना  विकल्प साबित हो सकता है।

और जानिए >>

तो देखा आपने खजूर के फायदे एवं लाभ हमारे स्वास्थ के लिए  कितने करिश्माई है। जिनका घरेलु उपयोग  कर आप आपकी  की शारीरक परेशानियों को ख़त्म कर स्वास्थ को बेहतर बनाने में कर सकतें है। 

मेने इस लेख के माध्यम से खजूर के बारें में आपके मन के सवालों के साथ आसान भाषा में विस्तार से उपयोगी और सही जानकारीदेने की कोशिश की है। उम्मीद करता हूँ, यह जानकारी आप को अच्छी लगी होगी। 

यदि आपको भी इस लेख से सम्बंधित खजूर के विषय में उपयोगी जानकारी हो, तो इसे कमैंट्स के माध्यम से जरूर शेयर करें और आपके मन में कोई सवाल या सुझाव हो तो भी हमें जरूर बताएं। 

यदि आपको यह लेख करिश्माई हैं, खजूर खाने के फायदे एवं लाभ अच्छा लगा हो तो इसे अन्य शोशिअल मीडिया Facebook और Whatsapp पर जरूर शेयर करें। 

 धरती की ऐसी ही रोचक जानकारी पाने के लिए हमारी वेबसाइट Hindiplant पर क्लिक करें।