1
HomeInformationकेसर छोटे( नन्हें) बच्चों को कैसे खिलाएं फायदे।

केसर छोटे( नन्हें) बच्चों को कैसे खिलाएं फायदे।

केसर ऐसी गुणकारी वस्तुओं में से एक है। जो सभी उम्र और व्यक्तिओं के लिए फायदेमंद है। ये शायद सभी जानते ही  है। उसी तरह केसर बच्चों के लिए के लिए भी बहुत फायदेमंद है।

इसीलिए छोटे(नन्हें)) बच्चों को केसर कैसे खिलाएं यह सवाल सभी माता – पिता के मन में जरूर आता  होगा। अक्सर देखा जाता है, मौसम बदलने पर बच्चों की तबियत अक्सर बिगड़ने लगती है।

क्यों की, छोटे बच्चों की रोग प्रतिकारक शक्ति बहुत ही कमजोर होती है। केसर का उपयोग छोटे बच्चों के लिए बहुत फायदेमंद है। इससे उनकी कई शारीरकसमस्याएं  दूर होती है।

तो क्या आप जानते है, केसर छोटे( नन्हें) बच्चों को  कैसे खिलाएं  इसके फायदे के बारें में । यदि नहीं तो ये लेख आपको पूरा पढ़ना चाहिए। इस लेख में बच्चों को केसर कैसे खिलाएं के विषय में विस्तार से जानकारी दी  है।

केसर के फायदे।

  • बच्चों को केसर खिलाने से बच्चे का शारीरिक स्वास्थ तो बेहतर होता ही है। साथ में बच्चों का मानसिक विकास भी अच्छी तरह से होता है।
  • केसर की तासीर गर्म होती है इसलिए यह शरीर को गर्म रखने और खांसी को दूर करने में  उपयोगी है।
  • केसर में क्रोकिन नामक तत्व पाया जाता है जो बुखार को दूर करने में बहुत उपयोगी माना जाता है।
  • यह पाचनतंत्र और रोगप्रतिकारक शक्ति को भी बढ़ाता है।
  • गर्म दूध में केसर मिलकर बच्चों को खिलाने से बच्चों को नींद अच्छी आती है। और सर्दी -खांसी होने की संभावना भी कम हो जाती है।
  • छोटे बच्चों को गर्म पानी में थोड़ा केसर मिलकर छाती और पीठ पर लगाने से छोटे बच्चों की शर्दी और कफ दूर होता है।

केसर बच्चों को कैसे खिलएं।

केसर कितना और कैसे खिलाएं। केसर खिलाने का तरीका।

६ महीने से छोटे बच्चे को सर्दी या झुकाम होने पर केसर के १ से २ रेशे, २ लॉन्ग और छोटा जायफल पीसकर इस चूर्ण को बच्चे के छाती और पीठ पर मालिश करें। इस से इनकी शर्दी, झुकाम की परेशानी दूर होती है।

नवजात शिशु से लेकर ६ महीने तक के बच्चों को केसर बहुत ही कम मात्रा में देना है। इन बच्चों को केसर के १ रेशे को माँ  के दूध में थोड़ी देर रख कर निकाल लें और बच्चे को पीला सकतें है।

आप ६ महीने के ऊपर यानि ६ महीने से बड़े  बच्चे को केसर के २ से ३ रेशे गर्म दूध में उबालकर दिन में या रात में दे सकतें है।  आम तौर पर रात के समय  केसर वाला दूध देना अधिक फायदेमंद होता है। इससे नींद भी अच्छी आती है।

ध्यान रहें केसर को अधिक मात्रा में बच्चों को न दें। क्यों की केसर की प्रकृति गर्म होती है। इस से छोटे बच्चों को नुकसान भी हो सकता है। 

सावधानियां :

केसर वैसे तो सुरक्षित है, इस के कोई साइड इफेक्ट्स नहीं होतें।

परन्तु व्यस्क व्यक्ति को इसका १,५ की मात्रा का सेवन करना उचित होता है। लेकिन इसकी ३० मिलीग्राम की मात्रा ही सवास्थ की लिए पर्याप्त होती है।

इस मात्रा का अवलोकन करके आप बच्चों को केसर देने की खुराक का अनुमान लगा सकतें है। इसकी गर्म प्रकृति की अधिक मात्रा बच्चों को नुकसान दे सकती है।

और पढ़ें >>

तो देखा आपने बच्चों को केसर कैसे खिलाएं सही जानकारी से आप बच्चो की छोटी- मोटि शारीरक समस्यां को घरेलु उपचार की मदद से ही दूर कर सकतें है।

आशा करता हूँ, आपको इस  उपयोगी  जानकारी मिली होगी। यदि आपको इस लेख से सम्बंधित कोई सवाल या सुझाव हो या फिर  आपको केसर के विषय में कोई उपयोगी जानकरी हो, तो इसे कमेंट्स के माध्यम से औरों को जरूर बताएं। ताकि औरों को भी इसका फायदा मिल सकें।

यदि आपको यह लेख केसर, छोटे( नन्हें) बच्चों को  कैसे खिलाएं फायदे अच्छा  लगा हो और यह जानकरी पसंद आयी हो तो यह लेख अपने दोस्तों तथा जरूरतमंद रिश्तेदारों को अन्य शोशियल मीडिया Facebook और Whatsapp पर जरूर शेयर करें।

हमारी धरती की ऐसी ही उपयोगी जानकारी और घरेलु उचार के लिए हमारी वेबसाइट Hindiplant पर  क्लिक करें।

Disclaimer

यह लेख आपकी जानकारी के लिए है। इसमें मौजूद किसी भी उपचार तथा नुस्खों का  प्रयोग करने से पहले अपने डॉक्टर तथा वैध की सलाह जरूर लें। 

RELATED ARTICLES

Leave a Reply

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments