इतने सारे हैं सीताफल (शरीफा) के स्वास्थ्य लाभ और उपयोग।

इतने सारे हैं सीताफल (शरीफा) के स्वास्थ्य लाभ और उपयोग।


इतने सारे हैं सीताफल (शरीफा) के स्वास्थ्य लाभ और उपयोग।

सीताफल के स्वास्थ्य लाभ इतने सारे हैं जिन्हे जानकर आप भी सीताफल को जरूर पसंद करने लगेंगे। आपने भी सीताफल खाया होगा और जिसे आप सीताफल के नाम से जानते है दरअसल यह फल शरीफा नाम से भी जाना पहचाना जाता है। 

बाकि सभी फलों से अलग स्वाद और पहचान रखने वाले सीताफल के इतने सारे लाभ है जिनका उपयोग करके आप अपने स्वास्थ्य को न की सुधार सकते हैं बल्कि कई रोगों को भी दूर कर सकतें है। 

आयुर्वेद में भी सीताफल के स्वास्थ्य लाभों के बारें में और इसके औषधि गुण बारें में बताया है। यदि आप भी सीताफल के स्वास्थ्य लाभ और इसके उपयोग के बारें में जानना और समझना चाहते हैं। तो यह लेख आपको इसे जानने में बहोत उपयोगी हो सकता है।  

इस लेख में आप सीताफल के बारें में विस्तार से जानेंगे। तो फिर ज्यादा देरी न करते हुवे शुरू करते है आज का हमारा महत्व पूर्ण विषय सीताफल (शरीफा) के स्वास्थ्य लाभ और उपयोग। 

और जानिए >>

क्या हे सीताफल ? जानकारी 

सीताफल का वानस्पतिक नाम Annona squamosa है। यह एक तरह का फल है जो औरों से अलग है। यह ऊपर से और अंदर से अलग अलग खंडो में बटा हुवा होता है। इस प्रत्येक खंड के अंदर मखमली सफ़ेद रंग का गुदा होता है इसमें काले और भूरे रंग के छोटे छोटे बीज होते है। 

कच्ची अवस्था में सीताफल कठोर और पकने पर नरम हो जाते है। यह दिखने में ऊपर से खुरदरा और अंदर का हिस्सा हल्का पीला सफ़ेद र मखमली और मलाईदार होता है। 

यह गोल आकार व मध्यम गोल आकार के ६ से १० से.मि. के होते है। इनका वजन लगभग १०० ग्राम से २५० ग्राम तक होता है। यह एफ बहोत स्वादिष्ट और मीठा फल है।

सीताफल नाम क्यों और कैसे पड़ा ?

 मान्यता है के सीता माता वनवास के समय भगवान राम को जो फल भेंट किया था उस फल का नाम सीताफल पड़ा। 

सीताफल में कौन सा विटामिन होता है?

सीताफल ( Custard Apple ) में आयरन (iron), कैल्शियम (calcium), राइबोफ्लेविन ( riboflavin), तायमीन (taemin), पोटेशियम (potassium) और विटामिन (vitamin) भरपूर मात्रा में पाया जाता है। आईये जानते है सीताफल खाने के क्या फायदे हैं। 

सीताफल के लाभ :

१) हमारे दिल  सीताफल बहोत फायदेमंद फल है। इसके सेवन से हमारा दिल मजबूत तो होता ही है साथ में यह उच्चरक्तचाप के साथ बढ़ी हुवी दिल की धड़कन को भी नियंत्रित करता है। 

२) सीताफल में विटामिन A के साथ राइबोफ्लेविन ( riboflavin) प्रचुर मात्रा में होने के कारण यह हमारी आँखों की रोशनी को बढ़ाता है। 

३) सीताफल के सेवन से हमारा दिमाग शांत बना  रहेता है। इसे खाने से दिमाग ठंडा रहता है इसीलिए यह डिप्रेस्शन का शिकार होने से बचा रहता है साथ ही इससे चिड़चिड़ापन और स्ट्रेस भी दूर रहते है। 

४) सीताफल का नियमित सेवन खून को बढ़ता है इससे शरीर में खून की कमी दूर होती है और अनीमिया जैसे रोग से हमारा बचाव होता है। 

५)  हमारे शरीर में सीताफल का सेवन हमें तुरंत ऊर्जा प्रदान करता है जिससे शरीर में ऊर्जा का संचार होता है इससे थकावट कम होती है और शारीरक कमजोरी दूर होती है। 

६) सीताफल के बीज के फायदे भी अनेक है उनमें से ही एक है सीताफल के बीज को यदि  दूध के साथ पीसकर सिर में लगाया जाये तो बाल गिरने बंद होते है और  उस जगह नए बाल उग आते हैं। 

७) सिर में जुंए की समस्यां होने पर सीताफल के बीज का चूर्ण बनाकर पानी में लेप बनाकर रात में सिर में लेप किया जाए और सुबह धो लिया जाए इस प्रयोग को यदि २ से ३ दिनों तक किया जाए तो जुएं की समस्यां से छुटकारा मिलता है। 

शरीर में यदि अलर्जी की समस्यां हो तो सीताफल के बीज के चूर्ण को शहद के साथ लेने से  परेशानी में आराम मिलता है। 

८) सीताफल की तासीर कैसी होती है आप यह जानना चाहते हो तो आप को बतादूँ सीताफल की तासीर शीतल (ठंडी) होती है। 

इसीलिए जिन लोगों को गर्मियों में लू लगने की समस्यां रहती हो शरीर में जलन रहती हो या शरीर गर्म रहता हो तो उनको सीताफल का सेवन शरीर को शीतलता प्रदान करता है और शरीर को ठंडा रखता है। 

९) सीताफल में एंटीएंजिंग प्रॉपर्टी होने के कारण सीताफल का सेवन यदि रोजाना या फिर नियमित तौर पर किया जाए तो यह चहेरे की झुर्रियों को कम करता है और त्वचा को अधिक समय तक जवान बनायें रखने में मदद करता है। 

१०) पथरी होने पर सीताफल के रस में  सिन्धा नमक मिलाकर पिने से कुछ ही दिनों में पथरी टूट कर निकल जाती है और पथरी की परेशानी से छुटकारा मिलता है। 

११) सीताफल में विटामिन बी ६ होने कारण इसे नियमित खाने से अस्थमा के हमले सेभी हमारा बचाव  होता है। 

१२) सीताफल का सेवन गर्भावस्था ( प्रेगनेंसी ) के दौरान यदि किया जाये तो बच्चे का विकास अच्छे से होता है। 

१३) सीताफल इन डायबिटीज की बात यदि करें तो इसमें अतिरिक्त शुगर  सोख  विषेश गुण के कारण मधुमेह के रोगियों के लिए भी यह बहोत  ही अच्छा और उपयोगी फल है। 

जरूर पढ़ें >>

तो देखा आपने सीताफल के इतने सारे स्वास्थ्य लाभ के बारें में सीताफल सभी प्रदेशों में हमें आसानी से प्राप्र्त हो जाता है। तो क्यों न सीताफल की सही जानकारी के साथ इस के फायदें तथा उपयोग से लाभ लिया जाय। 

आशा करता हूँ आज के इस लेख में आपको सीताफल के बारें में दी गयी जानकारी आपको भविष्य में बहोत फायदेमंद और  उपयोगी साबित होगी। यदि  इस लेख से सम्बंधित आप के पास कोई सवाल  हो तो उसे कमैंट्स बॉक्स में हमें जरूर बताएं। 

यदि आपको यह लेख सीताफल (शरीफा) के स्वास्थ्य लाभ और उपयोग अच्छा लगा हो तो इसे अन्य शोशियल मीडिया जैसे Facebook और Whatsapp पर जरूर शेयर करें। 

 हमारी धरती की ऐसे ही रोचक जानकारी को जानने के लिए हमारी वेबसाइट Hindiplant पर क्लिक करें।