पुदीना की जानकारी, अद्वितीय फायदे और औषधीय उपयोग।

पुदीना की जानकारी, अद्वितीय फायदे और औषधीय उपयोग। 

हमारे परिवार के बड़े और बुज़ुर्ग पुदीना की जानकारी बहोत अच्छी तरह से रखते है। इसीलिए परिवार में किसी को भी पेट दर्द अथवा पेट से सम्बंधित किसी तरह की समस्यां होने पर हमको पुदीना का सेवन कराया जाता है। 

हमारे प्राचीन आयुर्वेद में भी पुदीना के फायदे के साथ साथ इसके औषधीय गुण और उपयोग के बारें में अच्छी अच्छी बातें बताई हुवी है। 

पुदीना का जड़ी -बूटी के रूप में उपयोग किया जाता है। आयुर्वेद चिकित्सा जगत में पुदीना काफी लोकप्रिय औषधि के रुप में कार्य करता है। इसका ुउपयोग आपके सेहत में भी सुधार लाता है। 

आप यह तो जानते हो होंगे की पुदीने का उपयोग कई तरह की वस्तुएं जैसे की चॉक्लेट्स, च्विंगम, कैंडी, शरबत आदि बनाने में होता है। 

यह तो थी पुदीने के बारें में कुछ ऐसी बातें जिनको तो सभी जानते है। परंतु आज हम  पुदीने के बारें में विस्तार से जानकारी लेंगे। इस लेख में हम पुदीने के बारें में रोचक और महत्त्व पूर्ण जानकारी लेंगे। तो चलिए शुरू करते है आज का विषय पुदीना की जानकारी, अद्वितीय फायदे और औषधीय उपयोग। 

और जानिए >>

पुदीना की जानकारी और पहचान :

पुदीना का वानस्पतिक नाम Mentha spicata है। यह एक औषधीय पौधा है। इसके अनोखे स्वाद के लिए इसे तुरंत ही जाना और  पहचाना जाता है। दुनिया भर में पुदीने का कई तरह से सेवन किया जाता है। इसे च्विंगम, चॉकलेट्स, कैंडी, शरबत आदि बनाने में प्रयोग किया जाता है। 

पुदीना खाने से क्या फायदा?

पुदीने का सेवन हमें कई तरह से फायदा पहुंचाता है। इसमें पायी जाने वाली कई प्रकार की औषधि हमारे शरीर को चुस्ती, स्फूर्ति और तंदुरस्ती प्रदान करती है। इसमें पायेजाने वाले औषधीय गुण हमें हानि पहुंचाने वाले जीवाणुओं को ख़त्म करता है। 

पुदीना की तासीर ठंडी होती है इसलिए गर्मी के दिनों में पुदिने का सेवन अधिक लाभ करता है और हमें लू लगने से भी बचाता है। तो आईये जानते है हम किस तरह किन - किन शारीरिक समस्याओं में पुदीना का उपयोग कैसे करें?

पुदीना के औषधीय उपयोग :

शारीरिक ऊर्जा पाने के पुदीने का उपयोग :

शारीरक ऊर्जा प्राप्त करने के लिए  पुदीने का रस निकाल कर उसमें शक्कर और ठोसी की मात्रा में कला नमक मिलाकर  सेवन करें। 

घांव को ठीक करें पुदीना के फायदे :

शरीर पर किसी प्रकार की चोट या घांव होने पर पुदीने की पत्तियों को पीसकर लगाने से तुरंत आराम मिलता है। 

चर्म रोग में फ़ायदेमं है पुदीना :

चर्म रोग की समस्यां होने पर पुदीने के रस में थोड़ा सा पानी मिलाकर लगाने से विभिन्न प्रकार के चर्म रोग ठीक होते है। 

हड्डियां  मज़बूत करें पुदीना का उपयोग :

भोजन के समय पुदीने की कुछ पत्तियों को सलाद के रूप  में सेवन करने से हड्डियां मज़बूत होती है। 

पेट के कीड़े दूर करें पुदीना :

रात को सोए से पहले पुदीने की ३ से ४ पत्तियां चबाकर ऊपर से पानी पिलेने से पेट के किदर दूर होते है। 

आवाज़ निखारें पुदीने का सेवन :

थोड़े से पुदिने के रस में थोड़ा पानी और नमक मिलाकर गरम करलें। इन गुनगुने पानी से गरारे करने से आवाज़ साफ़ होती है। 

ऑइली त्वचा में फ़ायदेमंद है पुदीना :

ऑइली त्वचा की परेशानी होने पर १ बा चम्मच पुदीने के रस में आधा चम्मच ओटमील और १ बड़ा चम्मच दही मिलाकर फेस पैक बनाकर चहेरे पर लगानेसे चहेरे से ऑइली त्वचा की समस्यां दूर होती है। 

अपच को दूर करें पुदीने के फायदे :

पुदीना, अदरक, लहसुन और नमक मिलाकर चटनी बनालें और इसे भोजन के साथ सेवन करें इस प्रयोग से अपच की समस्यां में आराम मिलता है। 

खांसी, ज़ुकाम और बुखार में फ़ायदेमंद हे पुदीने का सेवन :

पुदीना, काली मिर्च और काला नमक इन तीनो को मिलाकर काढ़ा बनाकर पिने से खांसी, ज़ुकाम और बुखार दूर होते है। 

हिचकियाँ मिटाये पुदीने का उपयोग :

पुदीने का रस पिने से या इसकी २ से ३ पत्तियों को चबाकर खाने से हिचकियां आना बंद होती है। 

और जानिए >>

आपने देखा आसानी से हमें प्राप्त होने वाले पुदीने के कई लाभ और फायदे हमारी धरती ने पुदीने के रूप में हमें उपलभ्ध किये है। 

आशा करता हूँ इस लेख में पुदीने के फायदे और औषधीय उपयोग के बारें में दी गयी जानकारी आपको अच्छी  लगी होगी। यदि आपके मन में इस लेख से सम्बंधित पुदीने के विषय में कोई सवाल या सुझाव हो तो निचे कमैंट्स करे। 

यदि आज का यह लेख पुदीना की जानकारी, अद्वितीय फायदे और औषधीय उपयोग आपको अच्छा और उपयोगी लगा हो तो इसे अन्य सोशल मीडिया Facebook और Whatsapp पर जरूर शेयर करें। 

हमारी धरती की ऐसी ही रोचक और उपयोगी जानकारी पाने के लिए हमारी वेबसाइट Hindiplant पर क्लिक करें।