पपीता क्या हे? जानेंगे पपीता खाने के फायदे और नुकसान।

दोस्तों आप सभी को पपीता क्या है? और पपीता खाने के फायदे और नुकसान की जानकारी शायद ही होगी। तो आपको बतादूँ पपीता एक ऐसा  पौष्टिक फल है जो आसानी से हर जगह पाया जाता है। पपीता की तासीर गर्भ फलों में होती है।
पपीता को (पपाया)  papaya के नाम से भी जानते है।  पपीता हमें होने वाले बहुत से लोगों को ठीक करने में और उनसे लड़ने  मैं  कारगर है।  पपीते को कच्चा या पक्का दोनों ही तरह से उपयोग किया जाता है। पपीता जैसे पौष्टिक फल को खाने के साथ-साथ आयुर्वेद में भी उपयोग किया जाता है। इसलिए आज के हमारे इस लेख में हम पपीते के बारे में विस्तार से जानेंगे हम पपीता क्या है, और पपीता खाने के क्या है फायदे और नुकसान के बारे में विस्तार से चर्चा करेंगे तो चलिए हमारा आज का विषय  बीना किसी देरी के शुरू करते हैं।

पपीता का परिचय :

पपीता का परिचय और पहचान इसके फल से आसानी से होती  है।  पपीता का पेड़ छोटा और आसानी से कहीं भी उगाया जाता है। पपीते के पेड़ की लकड़ी नहीं होती और यह अंदर से खोखला होता है। पपीता के पेड़ की उम्र ३  से ४  साल तक होती है। इसके बाद आपको नया पौधा लगाना  पड़ता है। पपीता के पौधे को कहीं भी थोड़ी सी जगह होने पर भी लगा सकते हैं। इसे कोई खास हवा और पानी की और किसी भी तरह के खास वातावरण की जरूरत नहीं होती। किसी भी तरह के वातावरण में यह आसानी से बड़ा हो जाता है। अन्य प्रदेश में  पपीता को अलग अलग नाम से जाना जाता है जैसे कि.

अन्य भाषाओँ में पपीता के नाम :

हिंदी -पपीता, पोपैया
गुजरती -पपाई , चिबड़ा
मराठी -पपाया (Papaya)
English – Melon tree
संस्कृत -एरण्ड कर्कटी, ब्रह्मएरण्ड
पंजाबी -एरण्डखर्बूजा , खर्बूजा
नेपाली -मेवा
बंगाली -पापैया , पपेया
कन्नड़ -परंगीमारा , गोपे
फ़ारसी -अम्बाहिन्दी
तेलुगु -बोप्पयी , मधुरनकमु
तमिल -पप्पई , परंगियमनक्कु
मलयालम -कप्पलम
पपीता के फल ;
पपीता क्या हे? जानेंगे पपीता खाने के फायदे और नुकसान।
पपीता क्या हे? जानेंगे पपीता खाने के फायदे और नुकसान।
पपीता के पत्ते  हरे वह कहीं – कहीं से नोकदार होते हैं पपीता के फल कच्ची अवस्था में हरे और पकने पर पीले नारंगी रंग के होते हैं। पकने पर इसके फल मीठे होते हैं और कच्ची अवस्था में अंदर से हरे और  स्वाद में  फीके होते हैं।  पपीते के  पेड़  को कहीं से भी काटने पर सफेद दूध जैसा पदार्थ निकलता है जिसे आक्षीर कहते हैं।
पपीते के फल का आकार गोलाकार  या बेलनाकार होता है। पपीता के बीज छोटे काले और नर्म होते हैं। पपीता के बारे में यह आश्चर्यजनक बात है कि पपीता  मैं नर और मादा ऐसी दो प्रजाति होती है। पपीते के नर पेड़ में सिर्फ फूल खिलते हैं और मादा पेड़ में सिर्फ फल लगते हैं।
पपीते के मादा  पेड़ में फल लगने मैं नर पपीते के पेड़ की बहुत बड़ी भूमिका होती है।  बिना नर पपीते के मादा  पपीते के पेड़ पर फल नहीं लगते या फिर फल लगते हैं तो यह बड़े नहीं होते छोटे में ही ये फल गिर जाते है। फलों को बड़ा होने में नर पपीते के परागकण का होना बहुत जरूरी है। इसीलिए पपीते के फलों के लिए यह दोनों ही पेड़ों का होना जरूरी है।
पपीता की कुछ हाइब्रिड किस्में होती है जिसमें नर और मादा गुण  एक में ही पाए जाते हैं। इसमें स्वता परागकण होते हैं gynodioecious और hermaphrodite होती है। यानी नर और मादा दोनों को एक ही पौधे में होता है pusa delicious pusha majesty पपीते के पेड़ को ज्यादा पानी की जरूरत नहीं होती। बल्कि ज्यादा पानी से इसकी जड़ें मर जाती है। पपीते के पेड़ को लगाने के लिए बारिश का मौसम सही रहता है इसे सर्दी के मौसम में इसे  बढ़ने में  परेशानी होती है। बाकी हर मौसम में यह बड़ा होकर फल देता रहता है।

पपीता के पौधे को कैसे लगाएं :

पपीते पौधे को लगाने के लिए नर और मादा पपीते के बीजों की पहचान यह है के पपीते को काटने पर इसमें दो रंग के बीज दिखाई देते  हैं। इसमें  कुछ बीज  भूरे रंग के होते हैं, तो  कुछ काले रंग के दिखाई देते हैं। इसमें काले रंग के  बीज नर होते हैं और भूरे रंग के बीज  मादा होते हैं। इस तरह बीजों की पहचान करके आप नर और मादा पौधे को लगा कर बड़ा कर सकते हैं। हर चार मादा पौधे में एक नर पौधे की जरूरत होती है। इससे इन्हें फल देने में आसानी होती है और इनमें बहुत ही अच्छी तरह से फल लगते हैं।
क्या आपको पता है के पपीता ही नहीं बल्कि पपीता के पत्ते खाने के फायदे भी होते हैं, और पपीता के पत्ते के औषधीय गुण में  उपयोग किया जाता है। पपीते के पत्ते का इस्तेमाल करके आप कई  रोगों का इलाज कर सकते हैं और इन रोगों को दूर भगा सकते हैं। पपीते  के पत्तों से निकला हुआ रस बहुत उपयोगी होता है पपीते के पत्तों से निकाला हुआ रस पिने से हमें बहुत लाभ होता है।  पपीते का रस अनेक बीमारियों में भी हमें ठीक करता है तो आइए  जानते हैं इसके उपयोग के बारे में।
पपीते के पत्तों में विटामिन A, विटामिन B और  विटामिन C और विटामिन E भरपूर मात्रा में  होता है। इसी के साथ प्रोटीन कार्बोहाइड्रेट, फास्फोरस,आयरन,सोडियम,  मैग्नीशियम आदि प्रचुर मात्रा में पाया जाता है। यह सभी  हमारे शरीर में होने वाले वायरस से होने वाले दुष्प्रभाव को रोकने वाली प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत करते हैं  संक्षेप  में कहे तो कैंसर जैसी बीमारियों से बचने में भी यह बहोत  उपयोगी होते हैं।आईये देखते है पपीते के जूस पिने के फायदें।

पपीते का जूस के फायदे :

पपीता के पत्ते में बहुत तरह के औषधीय गुण पाए जाते हैं। यह कई तरह के संक्रमण के साथ एलर्जी में लाभकारी होते हैं।  हमारे स्वास्थ के लिए यह बहुत उपयोगी जूस माना जाता है।  पपीते के पत्ते में विटामिन A, B और C पाए जाते हैं। पपीते के पत्ते में कैल्शियम के साथ फास्फोरस और आयरन जैसे खनिज तत्व भी मौजूद होते हैं।  इससे रक्त को शुद्ध करने वाले कई प्रकार के फाइटोकेमिकल्स जैसे की अल्कलॉइड,सैपोनिन,  टैनिन, फाइटोकेमिकल्स, फ्लेवोनॉयड आदि होते हैं।
पपीते के ५  से १० ताजा पत्ते लें, इसके बाद इन  पत्तियों को अच्छी तरह से धो लें एक के छोटे-छोटे टुकड़े करके  मिक्सर में डाल दे पिक्चर में अच्छी तरह से पीस लेने के बाद  इसे किसी  छन्नी की मदद से या किसी साफ कपड़े की मदद से छान लें इस तरह से जो रस निकला वही आपका पपीते का जूस है।आइए जानते हैं पपीते के जूस पीने के फायदे 

पाचनतंत्र में पपीते के फायदे :

पपीते के रस में एंटीऑक्सीडेंट और इसमें फाइबर होने से भोजन अच्छी तरह डाइजेस्ट होता है इससे पाचन तंत्र  मजबूत होता है

दिल और लिवर में पपीते के फायदे :

पपीते के जूस में पोषक तत्वों की वजह से शरीर में बैड कोलेस्ट्रॉल जमा नहीं हो पाता जिससे  दिल और लीवर मजबूत रहते हैं

मानसिक तनाव में पपीते के फायदे :

नियमित रूप से पपीते का जूस पिया जाए, तो शरीर में टी लिंफोसाइट मात्रा बढ़ जाती है जिस से  मस्तिष्क तनाव मुक्त रहता है

डेंगू में पपीते के फायदे :

पपीते के जूस में  एंटी टयूमर गुण भी होते हैं, जो शरीर की रोगप्रतिकारक शक्ती  बढ़ाते हैं पपीते के जूस में एंटीऑक्सीडेंट होने की वजह से यह डेंगू के जीवाणुओं को मारने में सक्षम है। इससे  मांसपेशियों में तेज बुखार दर्द जोड़ों के दर्द से राहत मिलती है।  डेंगू के दौरान पपीते के जूस के सेवन से प्लेटलेट काउंट तेजी से बढ़ते हैं, जिससे  मरीज की हालत में तेजी से सुधार होता है।

त्वचा में पपीते के फायदे :

पपीते के  पत्ते में सैपोनिन, अल्कलॉइड, फ्लेवोनॉयड और टैनिन  की वजह से त्वचा को पोषण मिलता है इससे  त्वचा चमकने लगती है
पपीते के जूस में  विटामिन A, विटामिन B और अन्य ऑक्सीडेंट की वजह से रक्त संचार ठीक होता है, और त्वचा की झुर्रियां दाग धब्बे  को दूर करता है।
पपीते के पत्ते के रस को पके हुए पपीते के साथ मिलाकर त्वचा पर लगाने से रंग गोरा होता है, साथ ही रोम छिद्र भी खुल जाते हैं जिससे त्वचा की सुंदरता बढ़ जाती है

शारीरिक परेशानी में में पपीते के फायदे :

पपीते के जूस में पॉलीफेनॉल  और सपोनिन की वजह से टाइप २  मधुमेह, गठिया, दमा, निमोनिया, अल्सर आदि ठीक होते है।

बालों में पपीते के फायदे :

पपीते के पत्ते के जूस को बालों में लगाने से  गंदगी दूर होती है और सर में डैंड्रफ और खुजली की समस्या से निजात मिलती है।

सिर में पपीते के फायदे :

पपीते  के पत्ते का जूस सिर की त्वचा में नमी बनाए रखने में मददगार होता है।

पपीता खाने का सही समय :

पपीते का  छिलका मुलायम होता है यह आसानी से उतर जाता है इसे खाने के फायदें हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत होते हैं। पपीता  विटामिन सी और एंटीऑक्सीडेंट्स से भरपूर होता है। अपने इन्हीं गुणों के चलते कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित करने में काफी असरदार होता है।
वजन घटने में  मध्यम आकार के पपीते में १२० कैलोरी होती है। आप यदि वजन घटाना चाहते हो तब  पपीते को अपनी डाइट में ज़रूर शामिल करें। इसमें होनेवाले फाइबर्स आपको वजन घटाने में ज़रूर मदद करेंगे।
पपीते में विटामिन C भरपूर मात्रा में होने से यह हमारी रोगप्रतिकारक शक्ति को बढ़ाता है। ऐसे में अगर आप रोज कुछ मात्रा में पपीता खाते हैं तो यह आपके बीमार होने की आशंका को कम कर देगा।
पपीते में विटामिन C भरपूर मात्रा में होता है साथ में विटामिन A भी भरपूर मात्रा में होता है। विटामिन A आँखों की रोशनी बढ़ाने के लिए बहोत ही कारगार होता है। इसलिए आंखों की रोशनी को बढ़ाने के लिए पपीते का सेवन उपयोगी होता है।
पपीते के सेवन से पाचन तंत्र सक्रिय रहता है। पपीते में कई पाचक अन्ज़ाइन होते है साथ ही इनमें डायटरीफाईबर
होते हैं जिसकी वजह से पाचन क्रिया सही रहती है।
जिन महिलाओं को पीरियड के दौरान दर्द की शिकायत होती है। पपीते के सेवन से उनसे भी आराम मिलता है।  पपीते के सेवन से एक और जहां पीरियड साइकिल नियमित रहता है वहीं दर्द में भी आराम मिलता है।

पपीता खाने का सही समय :

यदि आप भी पपीता खाने के शौकीन हैं तो उसको नाश्ते में जरूर खाएं क्योंकि पपीता हमारे पेट के लिए अच्छा माना जाता है।  इसलिए अगर आप नाश्ते में इसे खाएंगे तो ये ना केवल यह आपको तरो ताजा रखता है बल्कि पाचन तंत्र को भी कंट्रोल में रखा है।
पपीता खाने के सही समय की अगर बात की जाए तो सुबह ५ :00 बजे से ९ :00 बजे तक का जो समय है वह पपीते के लिए बहुत उपयोगी होता है।

पपीता खाने के नुकसान :

गर्भवती होने के दौरान या गर्भधारण करने के दौरान पपीते के जूस पीने से गर्भपात का खतरा होता है।  इसलिए गर्भवती महिलाओं को पपीते का जूस का सेवन बिल्कुल नहीं करना चाहिए।
पपीते के पत्ते के प्रति त्वचा अति संवेदनशील होगी तो चकत्ते आदि की समस्या हो जाती है। जिनको पपीते के पत्ते से एलर्जी होती है उनको  इसका सेवन नहीं करना चाहिए।
अगर आप दवाओं का सेवन कर रहे हैं तो  पपीते के पत्तों का सेवन करने से पहले अपने डॉक्टर या वैद्य की सलाह जरूर लेनी चाहिए।
पपीते में मौजूद प्रेपैन शरीर के उस ज़िल्ली की भी नुकसान पहुंचा सकता है, जो भ्रूण ( बच्चे )के विकास के लिए आवश्यक है।
बात करेंगे पाचन मुद्दों की पपीता पेट और कब्ज़ में सब को फायदा करता है। मगर इसको ज्यादा मात्रा में खाने से आप का पेट खराब हो सकता है। क्योंकि पपीते की बाहरी त्वचा में लेटेक्स होता है। जो पेट को ख़राब कर सकता है, और पेट दर्द का कारण भी बन सकता है। लेकिन इसको बहुत ज्यादा मात्रा में खातें हे तब ऐसी परेशानी का सामना करना पड़ता है।
मधुमेह में पपीता ब्लड शुगर के लेवल को कम करता है .इसलिए  मधुमेह के मरीजों के लिए  पपीता खतरनाक हो सकता है। ऐसे में अगर आप मधुमेह के मरीज  हैं तो आप डॉक्टर के परामर्श के बाद याद ही पपीता का सेवन करें।
पपीते में मौजूद प्रेपैन से एलर्जी होने की संभावना होती है। इसके सेवन से रिएक्शन के तौर पर सूजन चक्कर आना सिर दर्द और खुजली जैसी समस्याएं हो सकती हैं।
 पपीते में मौजूद प्रेपैन को संभावित एलर्जी भी कहा जाता है इसलिए पपीते के अधिक मात्रा में सेवन करने से अस्थमा कंजेशन और जोर-जोर से सांस लेना जैसी विभिन्न श्वसन संबंधी समस्या  होने की संभावना होती है। इसलिए पपीते का सेवन कुछ सावधानियों के साथ करना चाहिए।
यह लेख जो  पपीता क्या हे? जानेंगे पपीता खाने के फायदे और नुकसान लेख को पढ़ने के बाद पपीते के बारें में आपको कुछ उपयोगी जानकारी मिली होगी। मेने इस लिख में पपीते के फायदे और निकसान के बारें में जानकारी देने की कोशिश की है।
इस लेख से सम्बंधित आपके कोई सवाल या सुझाव हो तो निचे कमैंट्स में पूछ सकते है। मुझे उम्मीद है आप को मेरी यह पोस्ट अच्छी लगी होगी। तब इसे Facebook और whatsapp पर शेयर जरूर करे. और भी ऐसी रोचक जानकारी पाने के लिए Main Page पर जाएँ।

Leave a Reply

%d bloggers like this: